अभिनंदन वर्धमान की जीवनी – Abhinandan Varthaman Biography Hindi

August 04, 2019
Spread the love

अभिनंदन वर्धमान एक भारतीय सेना के पायलट हैं जो कि 27 फरवरी 2019 को एक पाकिस्तान के विमान का पीछा करते हुए पाकिस्तान की सीमा के अंदर चले गए थे। पाकिस्तान की सीमा के अंदर जाने के बाद उन्होंने पाकिस्तान के उस विमान को खत्म कर दिया था जो कि हमारे देश की सीमा के अंदर घुसा गया था। लेकिन उस दौरान अभिनंदन वर्धमान का विमान भी हादसे का शिकार हो गया था और उन्हें अपने विमान से कूदना पड़ा था। जिसके चलते वे पाकिस्तान की सीमा के अंदर जा गिरे थे और उनको पाकिस्तान की सेना ने पकड़ लिया था। तो आइए आज इस आर्टिकल में हम आपको अभिनंदन वर्धमान की जीवनी – Abhinandan Varthaman Biography Hindi के बारे में बताएगे।

Read This -> भगवत दयाल शर्मा की जीवनी – B. D. Sharma Biography Hindi

अभिनंदन वर्धमान की जीवनी – Abhinandan Varthaman Biography Hindi

अभिनंदन वर्धमान की जीवनी

जन्म

अभिनंदन वर्धमान का जन्म 21 जून 1983 को काँचीपुरम से 15 किलोमीटर दूर तिरुपानापुर, भारत में हुआ था।उनके पिता का नाम सिम्हाकुट्टी वर्धमान है जो भारतीय वायुसेना में रिटायर्ड एयर मार्शल रह चुके है। उनकी माता का नाम शोभा देवी है जो एक डॉक्टर है। उनकी पत्नी का नाम तन्वी मारवाह है। तन्वी मारवाह भी भारतीय वायुसेना में पायलट रह चुकी है। तन्वी मारवाह भारतीय वायुसेना में स्क्वाड्र्न लीडर पद पर रहते हुए ही रिटायर्ड हुई थी और अब वे चेन्नई में जॉब कर रही हैं। एक बेटा भी है, जिसका नाम तविष है। अभिनंदन वर्धमान ने अपनी वर्दी पर ‘अभि’ नाम लिखवाया हुआ है। क्योकि उन्हे घर पर प्यार से ‘अभि’ कहा जाता है।

Read This -> शामिया आरजू खान की जीवनी – Shamiya Aarzoo Khan Biography Hindi


शिक्षा

अभिनंदन वर्धमान ने अपनी शिक्षा बेंगलुरु के स्कूल से प्राप्त की है।

करियर

अभिनंदन वर्द्धमान ने अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद 19 जून 2004 में भारतीय वायु सेना को ज्वाइन किया था और ये करीब 15 सालों से अपनी सेवाएं भारतीय वायुसेना में दे रहे हैं। अभिनंदन वर्धमान इस वक्त भारतीय वायु सेना में बतौर विंग कमांडर के पद पर कार्य कर रहे हैं।

Read This -> 15 अगस्त का इतिहास – 15 August History Hindi

कार्यक्षेत्र

27 फरवरी 2019 को एक पाकिस्तान सेना के विमान ने भारत की सीमा में प्रवेश किया था और इस विमान को वापस से उसकी सीमा में भेजने के लिए अभिनंदन वर्धमान ने उस विमान का पीछा किया था और उस विमान को नष्ट कर  दिया गया था। लेकिन उस दौरान अभिनंदन वर्धमान का विमान भी दुर्घटनाग्रस्त हो गया था और वो पाकिस्तान की सीमा में जा गिरे थे। जिसके बाद पाकिस्तान की सेना ने उन्हें अपनी हिरासत में ले लिया था।

अभिनंदन वर्धमान जब पाकिस्तान की सीमा में गिरे थे तो उनको वहां पर पाकर वहां पर मौजूद लोगों ने उन्हे खूब मारा था और उनके सिर से खून  भी निकलने लगा था। लेकिन बाद में पाकिस्तान की सेना ने अभिनंदन वर्धमान को लोगों से बचा अपने साथ लेकर चली गई थी। वहीं अभिनंदन वर्धमान को पकड़ने से जुड़ा  वीडियो काफी वायलर हुआ था। जिसके बाद पाकिस्तान की सेना ने एक और वीडियो जारी किया था जिसमें अभिनंदन वर्धमान पाक सेना से बात कर रहे थे और बता रहे थे कि वो एकदम सही है।

अभिनंदन वर्धमान को मुज्जफ्फराबाद के आर्मी सेंटर में रखा गया था। जहां पाकिस्तान के मेजर ने उनसे पूछताछ की, लेकिन अभिनंदन ने साहस और संयम के साथ सवालों के जवाब दिए, जिसके परिणामस्वरूप पाकिस्तानी सेना भी भारतीय जांबाज की दिलेरी के कसीदे पढ़ने लगी। पाकिस्तान में भी अभिनंदन की साहस की चर्चाएं होने लगीं।

Read This -> जवाहरलाल नेहरु की जीवनी – jawaharlal-nehru Biography Hindi

भारत वापसी

विंग कमांडर अभिनन्दन वर्द्धमान को पाकिस्तान के कब्जे से छुडाने के लिए भारतीय सरकार ने उनकी रिहाई को लेकर कोशिशें तेज़ कर दी। भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उन्हें सुरक्षित भारत  वापस लाने का जिम्मा राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को सौंपा गया था। इसके बाद अजीत डोभाल ने पाकिस्तान पर दबाव बनाने के लिए एक खास रणनीति तैयार की। जिसके तहत विंग कमांडर अभिनन्दन वर्द्धमान की रिहाई को लेकर कूटनीतिक स्तर पर उन्होंने कई अंतराष्ट्रीय साझेदारों से बातचीत की, जिसका परिणाम यह रहा कि पाकिस्तान ने 1 मार्च 2019 में विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान को रिहा कर दिया और पाकिस्तान ने उन्हें बाघा बॉर्डर के जरिए भारत भेज दिया। भारत सरकार की और से अभिनंदन वर्धमान को वापस से अपने वतन लाने के लिए कोशिश की गई थी और वो 1 मार्च 2019 को वापस भारत आ गए हैं। वे पहले बाघा बॉर्डर आये और फिर उनको वहाँ से दिल्ली ले जाया गया।

Read This -> गोपी चंद भार्गव की जीवनी – Gopi Chand Bhargava Biography Hindi

Leave a comment