https://www.googletagmanager.com/gtag/js?id=UA-86233354-15
Biography Hindi

अभिषेक बच्चन की जीवनी – Abhishek Bachchan Biography Hindi

अभिषेक बच्चन (English – Abhishek Bachchan) भारतीय फिल्म अभिनेता और निर्माता हैं। उन्होने 1998 में अपना करियर शुरू किया।

2000 में रिफ़्यूजी से बॉलीवुड में पदार्पण किया। उनकी फिल्मों में धूम, बोल बच्चन, युवा, सरकार और गुरु जैसे नाम हैं।

वे कबड्डी टीम जयपुर पिंक पैंथर के सह- मालिक हैं।

अभिषेक बच्चन की जीवनी – Abhishek Bachchan Biography Hindi

Abhishek Bachchan Biography Hindi
Abhishek Bachchan Biography Hindi

संक्षिप्त विवरण

नामअभिषेक बच्चन, जूनियर बच्चन या जूनियर बी, अभि और एबी बेबी, श्रीवास्तव
पूरा नामअभिषेक बच्चन
जन्म5 फरवरी 1976
जन्म स्थानमुंबई, महाराष्ट्र, भारत
पिता का नामअमिताभ बच्चन (अभिनेता)
माता का नामजया बच्चन (अभिनेत्री)
राष्ट्रीयता भारतीय
धर्म हिन्दू
जाति

जन्म

Abhishek Bachchan का  जन्म  5 फरवरी 1976 को मुंबई, महाराष्ट्र, भारत में हुआ था। उनके दादा हरिवंश राय बच्चन उर्दू और हिंदी साहित्य के एक प्रसिद्ध कवि थे।

उनके पिता का नाम अमिताभ बच्चन जोकि एक भारतीय फिल्म अभिनेता है तथा उनकी माता का नाम जया बच्चन है और वे भी फिल्म अभिनेत्री है।

उनकी बहन का नाम श्वेता बच्चन नंदा है।

Abhishek Bachchan with his family
Abhishek Bachchan with his family

2002 में अमिताभ बच्चन के 60वें जन्मदिन पर उन्होंने ‘करिश्मा कपूर’ के साथ अपनी सगाई की घोषणा की, हालांकि 2003 में बिना कोई कारण बताये दोनों परिवारों ने यह सगाई तोड़ दी। 14 जनवरी 2007 को उन्होंने 1994 की ‘मिस वर्ल्ड’ ऐश्वर्या राय के साथ अपनी सगाई की घोषणा की और 20 अप्रैल 2007 को दोनों विवाह बंधन में बंध गए। 16 नवंबर को वह एक पुत्री आराध्या के पिता बने, जिसका जन्म मुंबई के सेवन हिल्स अस्पताल में हुआ।

Abhishek Bachchan, Aishwarya Rai and their daughter
Abhishek Bachchan, Aishwarya Rai and their daughter

शिक्षा

अभिषेक बच्चन ने मुंबई के जमनाबाई नरसी स्कूल और बॉम्बे स्कॉटिश स्कूल, नई दिल्ली के वसंत विहार के माडर्न स्कूल और स्विट्ज़रलैंड के एग्लों कॉलेज से पढायी की. फिर वह संयुक्त राज्य अमेरिका के बोस्टन विश्वविद्यालय में पढने गए पर जब उनके पिता की कंपनी ऐ बी सी एल संकट में थी तब बीच में ही उन्होंने पढ़ाई छोड़ कर अभिनय को अपना लिया।

करियर

अभिषेक ने 1998 में अपना करियर शुरू किया। इसके बाद उन्होने अपने करियर की शुरुआत जेपी दत्ता की साधारणतया सफल फ़िल्म रिफ्यूजी से करीना कपूर के साथ 2000 में की, परन्तु सफलता करीना को मिली अगले चार साल की अवधि में बच्चन ने कई फ़िल्में बिना किसी बड़ी बॉक्स ऑफिस की सफलता के की, जैसे की अपनी पत्नी ऐश्वर्या राय के साथ कुछ ना कहो वर्ष 2004 उनके लिए एक अच्छा वर्ष था।

मणिरत्नम की युवा में उनके प्रदर्शन ने उनकी अभिनय क्षमता को साबित किया। उसी साल, उन्होंने धूम में अभिनय किया जो उनकी पहली बड़ी हिट थी। 2005 में, उन्होने चार लगातार हिट फ़िल्में: बंटी और बबली, सरकार’, दस और ब्लाफ़मास्टर दीं। उन्होने अपना दूसरा फ़िल्म फेयर पुरस्कार सरकार में अभिनय के लिये सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता वर्ग में जीता। बच्चन को पहली बार सर्वश्रेठ अभिनेता वर्ग में फ़िल्म फेयर पुरस्कार के लिये नामांकित किया गया।

2006 में उनकी पहली फ़िल्म कभी अलविदा न कहना” (2006) थी जो साल का सबसे ज्यादा कारोबार करने वाली फ़िल्म थी। उन्होने मणि रत्नम के स्टेज शो नेत्रू, इंद्रु, नाले में कई अन्य कलाकारों के साथ काम किया। उनकी दूसरी फ़िल्म उमराव जान बॉक्स ऑफिस पर अच्छा करने में विफल रही और उनके और ऐश्वर्या राय के सम्बंधों की अफवाह उठी. उनकी तीसरी फ़िल्म धूम 2 थी जो सफल फ़िल्म धूम की उत्तर-कृति थी। इस फ़िल्म ने बॉक्स ऑफिस पर बहुत अच्छा किया, लेकिन सफलता का श्रेय पिछली फ़िल्म की तरह खलनायक बने ऋतिक रोशन को मिला।

2007 में उनकी पहली फ़िल्म गुरु थी। उनके प्रदर्शन की काफी सराहना हुई और यह उनकी पहली एकल हिट फ़िल्म साबित हुई। मई 2007 में उन्होंने कई सितारों वाली शूटआउट एट लोखंडवाला में लघु भूमिका की। यह फ़िल्म काफी सफल रही। उनकी अगली फ़िल्म झूम बराबर झूम जून 2007 में प्रदर्शित हुई. भारत में यह फ़िल्म असफल रही, पर विदेशो में खासकर U.K. में सफल रही. यद्यपि फ़िल्म ने मिश्रित समीक्षा पायी, बच्चन ने फ़िल्म में अपने प्रदर्शन से काफी सराहना अर्जित की।

अभिषेक बच्चन अपने पिता की कंपनी (पूर्व में ऐ बी सी एल, अब ऐ बी लिमिटेड) के कार्यात्मक और प्रशासनिक संचालन में शामिल रहे है। यह माना जाता है की जब उनके पिता अपने सबसे बुरे दिन का सामना कर रहे थे तो अभिषेक इसके पुनरोद्धार के लिए पुरी तरह सक्रिय थे।

2008 की गर्मियों में अभिषेक बच्चन ने प्रीती जिंटा और रितेश देशमुख के संग अविस्मरनीय टूर पर अपने पिता अमिताभ बच्चन और पत्नी ऐशवर्या राय बच्चन का साथ दिया। टूर के प्रथम भाग में USA, कनाडा, लंदन और त्रिनिनाद का दौरा किया गया। टूर का द्वितीय भाग इस2008 के अंत में होंने की उम्मीद है। अमिताभ की कंपनी एबी कार्प लिमिटेड ने विजक्राफ्ट इंटरनेशनल इंटरटेन्मेंट प्राइवेट लिमिटेड के साथ मिलकर इसका आयोजन किया है। इस टूर की टिकटें लगभग सभी जगहों पर पूर्णतः बिक जाने की वजह से यह टूर काफी सफल रहा।

फिल्में

सालफ़िल्मभूमिकानोट्स
2000रिफ्यूजीरिफ्यूजीसर्वश्रेष्ठ नवोदित अभिनेता का फ़िल्मफेअर पुरस्कार के लिये मनोनित
करण खन्ना
तेरा जादू चल गयाकबीर श्रीवास्तव
2001बस इतना सा ख्वाब हैसूरजचंद श्रीवास्तव
2002हाँ मैंने भी प्यार कियाशिव कपूर
शरारतराहुल खन्ना
ओम जय जगदीशजगदीश बत्रा
देशअंजान
2003मैं प्रेम की दीवानी हूँप्रेम कुमारफिल्मफेयर सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता पुरस्कार के लिये मनोनित
मुंबई से आया मेरा दोस्तकांजी
कुछ ना कहोराज
ज़मीनएसीपी जयदीप “जय” राय
एल ओ सी कारगिललेफ्टिनेंट विक्रम बत्रा
2004रनसिद्धार्थ
युवालल्लन सिंहफिल्मफेयर सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता पुरस्कार के विजेता
हम तुमसमीरअतिथि उपस्थिति
धूमएसीपी जय दीक्षित
फिर मिलेंगेतरुण आनंद
रख्त: वॉट इफ यू कैन सी द फ्यूचरमानवअतिथि उपस्थिति (आइटम नंबर
नाचअभिनव
2005बंटी और बबलीराकेश त्रिवेदी / बंटीफिल्मफेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेता पुरस्कार के लिये मनोनित
सरकारशंकर नागरेफिल्मफेयर सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता पुरस्कार के विजेता
दसशशांक धीर
अन्तर महलबृज भूषण
सलाम नमस्तेडॉ॰ विजय कुमार / नेरेटरविशेष उपस्थिति
होम डिलीवरी: आपको… घर तकपिज्जेरिया में ग्राहकविशेष उपस्थिति
एक अजनबीअंगरक्षकविशेष उपस्थिति
नील एन निक्कीबार में आदमीविशेष उपस्थिति
ब्लफ्फमास्टरराय कपूर
2006अलगगीत सबसे अलग में विशेष उपस्तिथि
कभी अलविदा न कहनाऋषि तलवारफिल्मफेयर सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता पुरस्कार के विजेता
लगे रहो मुन्ना भाईसनी खुरानाविशेष उपस्थिति
उमराव जाननवाब सुल्तान खान
धूम 2एसीपी जय दीक्षित
2007गुरुगुरुकांत के. देसाईफिल्मफेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेता पुरस्कार के लिये मनोनित
शूट आउट एट लोखंडवालाअभिषेक महात्रेविशेष उपस्थिति
झूम बराबर झूमरिक्की ठुकराल
राम गोपाल वर्मा की आगजिप्सी गायकविशेष उपस्थिति
लागा चुनरी में दाग़रोहन वर्माविस्तारित कामो
ओम शांति ओमविशेष उपस्थिति
2008सरकार राजशंकर नागरेविमोचन
मिशन इस्तांबुलविशेष उपस्थिति
द्रोणआदित्य / द्रोण
दोस्तानासमीरनबंबर 14, 2008 को जारी होगी
2009पाAmol Arte
दिल्ली 6रोशन मेहराजनवरी 23, 2009 को जारी होगी
2010रावणBeera Munda
Jhootha Hi Sahi
खेलें हम जी जान सेसूर्य सेन
2011खेलनील मेनन
दम मारो दमएसीपी विष्णु कामथ
Bbuddah… Hoga Terra Baap
2012खिलाड़ियोंचार्ली
बोल बच्चनअब्बास अली
2013नौटंकी साला!
धूम 3एसीपी जय दीक्षित
2014हैप्पी न्यू ईयरनंदू भिड़े
The Shaukeens
2015शमिताभ
सब ठीक हैंइंदर भल्ला
2016हाउसफुल 3बंटी

विवाद

  • उनकी शादी के बाद, उनके घर (प्रतिक्षा) के बहार एक नर्तकी (background dancer) और मॉडल जाह्नवी कपूर ने अपनी कलाई काटकर आत्महत्या करने की कोशिश की। उसने कहा, वह अभिषेक के साथ उनकी फिल्म दस (2005) की शूटिंग के बाद एक रिश्ते में आई, और वह उनके बच्चे की माँ भी हैं। हालांकि, बाद में उसका दावा खारिज कर दिया गया और यह निर्णय निकाला गया की उसने यह सब धोखाधड़ी के इरादे से किया था।
  • जब वह फ़्लोरेन्स में अपना हनीमून बना रहें थे तो मणि रत्नम उनसे काफी नाराज हो गए क्योंकि वह मणि रत्नम द्वारा निर्देशित फिल्म “गुरु” के प्रचार अभियान के लिया समय नहीं दे पा रहें थे।

पुरस्कार

  • सर्वश्रेष्ठ हिंदी फीचर फ़िल्म ‘पा’ के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार (निर्माता के तौर पर)।
  • ‘युवा’ में फ़िल्मफेयर सर्वश्रेष्ठ सह अभिनेता पुरस्कार।
  • ‘सरकार’ में फ़िल्मफेयर सर्वश्रेष्ठ सह अभिनेता पुरस्कार।
  • ‘कभी अलविदा न कहना’ में फ़िल्मफेयर सर्वश्रेष्ठ सह अभिनेता पुरस्कार।
  • 2007 में आई फिल्म गुरु फिल्मफेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेता पुरस्कार के लिये मनोनित किया गया।
  • कभी अलविदा न कहना फिल्म के लिए फिल्मफेयर सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता पुरस्कार के विजेता रहे।

Sonu Siwach

नमस्कार दोस्तों, मैं Sonu Siwach, Jivani Hindi की Biography और History Writer हूँ. Education की बात करूँ तो मैं एक Graduate हूँ. मुझे History content में बहुत दिलचस्पी है और सभी पुराने content जो Biography और History से जुड़े हो मैं आपके साथ शेयर करती रहूंगी.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close