https://www.googletagmanager.com/gtag/js?id=UA-86233354-15
Biography Hindi

अरशद वारसी की जीवनी – Arshad Warsi Biography Hindi

अरशद वारसी (English – Arshad Warsi) हिन्दी फ़िल्मों के एक अभिनेता, निर्माता, गायक है।

फिल्म उद्योग में शामिल होने से पहले, वह अकबर सामी के नृत्य समूह में शामिल हुए और वर्ष 1991 में “भारतीय नृत्य प्रतियोगिता” को जीता। जिसने उन्हें कोरियोग्राफर बनने के लिए प्रेरित किया।

वे मुन्ना भाई एम बी बी एस, करिश्मा,जानी दुश्मन, मुझे मेरी बीवी से बचाओ, जीतेंगे हम, गोलमाल अगेन जैसी कई फिल्मों में काम कर चुके है।

उन्हे अपने फिल्मी करियर के दौरान कई पुरस्कारों से भी नवाजा जा चुका है।

अरशद वारसी की जीवनी – Arshad Warsi Biography Hindi

Arshad Warsi Biography Hindi
Arshad Warsi Biography Hindi

 

संक्षिप्त विवरण

नामअरशद वारसी
पूरा नामअरशद वारसी
जन्म19 अप्रैल 1968
जन्म स्थानमुंबई, महाराष्ट्र, भारत
पिता का नामस्वर्गीय अहमद अली खान
माता का नाम
राष्ट्रीयता भारतीय
धर्म इस्लाम

जन्म

Arshad Warsi का जन्म 19 अप्रैल 1961 को मुंबई, महाराष्ट्र में हुआ था।

उनके पिता का नाम अहमद अली खान था जोकि एक संगीतकार, गायक, कवि थे।

वह कम उम्र में अनाथ हो गया, उसके पिता की हड्डी के कैंसर से मृत्यु हो गई, उसकी माँ की भी 2 साल के भीतर मृत्यु हो गई। उन्हें पैसे की कमी के कारण स्कूल छोड़ने के लिए कहा गया था।

17 साल की उम्र में, अरशद ने अपनी बुनियादी जरूरतों को पूरा करने के लिए सौंदर्य प्रसाधन की वस्तुओं को बेचना शुरू किया।

अरशद ने 10 अगस्त 2004 को मारिया से शादी की, वे दो बच्चों के माता-पिता हैं।

शिक्षा

उन्होंने अपनी स्कूली शिक्षा बोर्डिंग स्कूल में पूरी की।उन्होने 10वीं तक शिक्षा प्राप्त किए।

करियर

फिल्म उद्योग में शामिल होने से पहले, वह अकबर सामी के नृत्य समूह में शामिल हुए और वर्ष 1991 में “भारतीय नृत्य प्रतियोगिता” को जीता। जिसने उन्हें कोरियोग्राफर बनने के लिए प्रेरित किया।

अरशद ने “Awesome” नामक अपनी एक नृत्य अकादमी को शुरू किया।

उन्हें हिंदी सिनेमा में अभिनय करने का पहला मौका अमिताभ बच्चन की कम्पनी की फिल्म तेरे मेरे सपने से मिला।

उन्होंने उस दौर में कई फ़िल्में मिली लेकिन वह हिंदी सिनेमा में किसी नजर में नहीं आये। उन्हें हिंदी सिनेमा में पहचान राजू हिरानी निर्देशित फिल्म मुन्नाभाई एमबीबीएस के जरिये मिली।

इस फिल्म में उन्होंने सर्किट की भूमिका अदा की थी। इस फिल्म में वह संजय दत्त के दाहिने हाथ के तौर पर नजर आये थे। इस फिल्म में उनके अभिनय को दर्शकों द्वारा इतना पसंद किया गया कि उन पर जोक्स भी बनने लगे।

इसके बाद वह एक बार फिर राजू हिरानी की इस फिलिम के सककल लगे रहो मुन्ना भाई में नजर आए। दोनों ही फिल्मों में उन्हें उनके बेहतरीन प्रदर्शन के लिए कई सरे अवार्ड्स से भी सम्मानित किया गया।

राजू हिरानी की फिल्मों से हिट होने के बाद वह निर्देशक रोहित शेट्टी की गोलमाल सीरीज में नजर आये। जिसमें दर्शकों द्वारा उन्हें बेहद पसंद किया गया।

अरशद सिर्फ कॉमिक रोल ही बल्कि इंटेंसिव रोल भी बेहद उम्दा तरीके से अदा करते हैं। यह उन्होंने फिल्म इश्किया और डेढ़ इश्किया में साबित कर दिया।

इस इन दोनों ही फिल्मों में उनके द्वारा निभायी गयी भूमिका आलोचकों और दर्शकों द्वारा सराही गयी थी।

उन्होंने बॉलीवुड में कोरियोग्राफर के रूप में काम करना शुरू किया। जिसके परिणामस्वरूप, उन्होंने अनिल कपूर और श्रीदेवी अभिनीत फिल्म ‘रूप की रानी चोरों का राजा’ (1993) में “रूप की रानी” गीत से कोरियोग्राफी करना शुरू किया।

वर्ष 1996 में, उन्होंने फिल्म “तेरे मेरे सपने” के साथ अपने अभिनय करियर की शुरुआत की। जोकि अमिताभ बच्चन के प्रोडक्शन हाउस की पहली फिल्म थी।

उन्होंने फिल्म ‘काश’ (1987) और ‘ठिकाना’ (1988) में महेश भट्ट की सहायता के लिए एक फोटो प्रयोगशाला में भी काम किया है।

हालांकि, उन्होंने फिल्म हलचल में अपनी भूमिका के लिए बहुत पुरस्कार प्राप्त किए हैं, लेकिन वह उस भूमिका से संतुष्ट नहीं थे।

फिल्मी सफर

वर्षफ़िल्मचरित्रटिप्पणी
2017गोलमाल अगेनमाधव
2016द लीजेंड ऑफ़ माइकल मिश्रामाइकल मिश्रा
2015गुड्डू रंगीलारंगीला
2015आपका स्वागत है कराची मेंशम्मी
2014डेढ़ इश्कियाबब्बन
2013Rabba Main Kya Karoonश्रावण
2013जॉली एलएलबीजगदीश त्यागी (जॉली)
2013जिला गाजियाबादमहेंद्र फौजी बैंसला गुर्जर
2012अजब गजब प्रेमSpecial appearance
2011लव बे्कअप जिंदगीSpecial appearance
2011डबल धमालआदि
2011फा ल तुबब्बन हुसैन
2010इश्कियाबब्बन हुसैन
2007संडेबल्लू
2007ज़मानत
2007धमालआदि
2006लगे रहो मुन्ना भाईसर्किट
2006एन्थनी कौन है?चंपक चौधरी
2006गोलमाल
2006काबुल एक्सप्रेस
2005कुछ मीठा हो जाये
2005किससे प्यार करूँसिद्धार्थ
2005शहरएस एस पी अजय कुमार
2005चॉकलेट
2005सलाम नमस्ते
2005वाह ! लाइफ हो तो ऐसीफ़कीरा बी पी सी एम
2005मैंने प्यार क्यूँ कियाविकी
2004हलचल
2003वैसा भी होता है – द्वितीय
2003मुन्ना भाई एम बी बी एस
2003करिश्मा
2002जानी दुश्मनअब्दुल
2001मुझे मेरी बीवी से बचाओरॉकी
2001जीतेंगे हम
2000घात
1999होगी प्यार की जीत
1999त्रिशक्ति
1998हीरो हिन्दुस्तानी
1998मेरे दो अन्मोल रतन
1997बेताबी
1996तेरे मेरे सपनेबल्लू

 

विवाद

  • 2001 में उन्होंने कैटरीना कैफ अभिनीत एक शीतल पेय विज्ञापन पर टिप्पणी करते हुए कहा कि “कैसे स्लाइस के विज्ञापन में कैटरीना ने कैरी को पकड़ा और वह आम जूस बन जाता है … और अगर अंगूर देते तो शायद शराब बन जाती।” हालांकि, इस विवादास्पद टिप्पणी को सोशल मीडिया, समाचार पत्र और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया से हटा दिया गया था। इसके बाद उन्होंने अपनी टिप्पणी के बारे में कहा, “मेरी टिप्पणी का कैटरीना से कोई लेना देना नहीं है। यह विज्ञापन के रचनात्मकों कार्यों को अवलोकन करता है। जिसे सरल भाषा में मज़ाक कहते हैं।”
  • 2016 में Arshad Warsi अपनी फिल्म ‘द लीजेंड ऑफ माइकल मिश्रा’ के एक संवाद “डाकू वाल्मीकि से संत वाल्मीकि बन जाएगा” से जान से मरने और जिन्दा जला देने की धमकियां अरशद को मिलने लगी। जिसके बाद अरशद ने एक ट्वीट के माध्यम से अपने संवाद का स्पष्टीकरण दिया।

पुरस्कार

  • 2004 में, उन्हें फिल्म मुन्ना भाई एमबीबीएस में एक कॉमिक भूमिका के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के रूप में ज़ी सिने पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
  • 2005 में, उन्हें फिल्म हलचल के लिए गिफा बेस्ट कॉमेडियन पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
  • Arshad Warsi को 2007 में फिल्म लगे रहो मुन्नाभाई में कॉमिक रोल के लिए सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के रूप में फिल्मफेयर अवॉर्ड, सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता के लिए आईआईएफए अवॉर्ड, ज़ी सिने पुरस्कार, सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता के लिए स्क्रीन अवॉर्ड, सर्वश्रेष्ठ एंकर-गेम / क्विज़ शो के लिए इंडियन टेलीविजन अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
  • 2011 में फिल्म इश्किया के लिए सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता के रूप में स्क्रीन पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
  • उन्हे 2013 में फिल्म जॉली एलएलबी के लिए सबसे मनोरंजक हास्य अभिनेता के रूप में बिग स्टार एंटरटेनमेंट अवॉर्ड से सम्मानित किया गया।
  • 2014 में, Arshad Warsi  को फिल्म जॉली एलएलबी में कॉमिक भूमिका के लिए सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के रूप में अप्सरा फिल्म प्रोड्यूसर गिल्ड अवॉर्ड और आईआईएफए अवॉर्ड से सम्मानित किया गया।

Sonu Siwach

नमस्कार दोस्तों, मैं Sonu Siwach, Jivani Hindi की Biography और History Writer हूँ. Education की बात करूँ तो मैं एक Graduate हूँ. मुझे History content में बहुत दिलचस्पी है और सभी पुराने content जो Biography और History से जुड़े हो मैं आपके साथ शेयर करती रहूंगी.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close