अरुण जेटली की जीवनी – Arun Jaitley Biography Hindi

August 24, 2019
Spread the love

अरुण जेटली भाजपा के प्रमुख नेता एवं प्रसिद्ध अधिवक्ता थे। जेटली चार बार राज्यसभा सांसद बने। वे पूर्व भारत के वित्त मंत्री हैं। वे राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के शासन में केन्द्रीय न्याय मन्त्री के साथ-साथ कई बड़े पदों पर आसीन थे। उन्होने अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में कैबिनेट मंत्री बने। तब उन्हें उद्योग-वाणिज्य और कानून मंत्रालय का कार्यभार सौंपा गया था। भारत के वित्त मंत्री के रूप में उनके कार्यकाल के दौरान, सरकार ने 9 नवंबर, 2016 से भ्रष्टाचार, काले धन, नकली मुद्रा और आतंकवाद पर अंकुश लगाने के इरादे से महात्मा गांधी श्रृंखला के 500 और1000 रुपए के नोटों का विमुद्रीकरण किया गया। अरुण जेटली का शनिवार 24 अगस्त 2019 को दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) में निधन हो गया है। तो आइए आज इस आर्टिकल में हम आपको अरुण जेटली की जीवनी – Arun Jaitley Biography Hindi के बारे में बताएगे।

अरुण जेटली की जीवनी – Arun Jaitley Biography Hindi

अरुण जेटली की जीवनी - Arun Jaitley Biography Hindi

जन्म

28 दिसम्बर, 1952 को अरुण जेटली का जन्म देश की राजधानी दिल्ली में हुआ था। वे एक पंजाबी ब्राह्मण थे।uनके पिता का नाम महाराज किशन जेटली और माता का नाम रतन प्रभा जेटली था। उनका विवाह 24 मई, 1982 को संगीता जेटली के साथ सम्पन्न हुआ था। उनकी पत्नी पूर्व जम्मू एवं कश्मीर के वित्त मंत्री गिरिधारी लाल डोगरा की बेटी है। उनके दो बच्चे है जिनके नाम रोहन जेटली और उनकी बेटी का नाम सोनाली जेटली है।

शिक्षा

उन्होने प्राथमिक शिक्षा दिल्ली के सेंट जेवियर्स स्कूल में 1957 से 1969 के दौरान ली। अरुण जेटली ने बी.कॉम. (ऑनर्स), एलएल.बी., श्रीराम कॉलेज ऑफ़ कॉमर्स, दिल्ली विश्वविद्यालय और विधि संकाय, दिल्ली विश्वविद्यालय से शिक्षा प्राप्त की थी।

करियर

  • वर्ष 1974 में वे जनसंघ में शामिल हुए।
  • वर्ष 1977 में  उन्हें दिल्ली एबीवीपी के अध्यक्ष और एबीवीपी के अखिल भारतीय सचिव के रूप में नियुक्त किया गया।
  • वर्ष 1980 में जेटली भाजपा के युवा मोर्चा के अध्यक्ष बने।
  • वर्ष 1991 में वे भाजपा के राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य बने।
  • वर्ष 1999 में उन्हे भाजपा के प्रवक्ता के रूप में नियुक्त किए गए।
  • 13 अक्टूबर 1999 को वह अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में सूचना और प्रसारण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) के रूप में नियुक्त किए गए।
  • राम जेठमलानी के इस्तीफे के बाद उन्हें एक कानून, न्याय, जहाजरानी (Shipping) और कम्पनी मामलों का अतिरिक्त प्रभार दिया गया।
  • नवंबर, 2000 में वह विधि, न्याय, और कम्पनी मामलो एवं जहाजरानी मंत्रालय के केंद्रीय मंत्री बने।
  • 1 जुलाई 2002 को, वह भाजपा के राष्ट्रीय सचिव बने।
  • 29 जनवरी 2003 को, उन्हें कानून और न्याय मंत्री और उद्योग मंत्री के रूप में नियुक्त किया गया।
  • 3 जून 2009 को, उन्हें राज्यसभा में विपक्ष के नेता के रूप में चुना गया।
  • वर्ष 2014 के आम चुनाव में, उन्होंने अमृतसर लोकसभा सीट से चुनाव लड़ा और अमरिंदर सिंह (कांग्रेस उम्मीदवार) से हार गए।
  • 26 मई 2014 को, जेटली को नवनिर्वाचित प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा वित्त मंत्री (जिसमें कॉर्पोरेट मामलों के मंत्रालय भी शामिल थे) और उनके कैबिनेट में रक्षा मंत्री के रूप में नियुक्त किया गया।
  • भारत के वित्त मंत्री के रूप में उनके कार्यकाल के दौरान, सरकार ने 9 नवंबर, 2016 से भ्रष्टाचार, काले धन, नकली मुद्रा और आतंकवाद पर अंकुश लगाने के इरादे से महात्मा गांधी श्रृंखला के 500 और1000 रुपए के नोटों का विमुद्रीकरण किया गया।
  •  मई, 2019 में वे बीमारी के चलते नई सरकार में शामिल नहीं हुए।

पुस्तक

Articles & Speeches by Arun Jaitley: A Compilation – 2014
‘अंधेरे से उजाले की ओर’

मृत्यु

अरुण जेटली का शनिवार 24 अगस्त 2019 को दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) में निधन हो गया है।

Leave a comment