Biography Hindi

बदलू सिंह की जीवनी – Badlu Singh Biography Hindi

बदलू सिंह (English – Badlu Singh)भारतीय सेना की 29वीं लांसर्स रेजिमेंट में रिसालदार और हिंदू जाट थे। उनके मरणोपरांत उन्हे “विक्टोरिया क्रॉस” से सम्मानित किया गया।

बदलू सिंह की जीवनी – Badlu Singh Biography Hindi

Badlu Singh Biography Hindi
Badlu Singh Biography Hindi

संक्षिप्त विवरण

नामबदलू सिंह
पूरा नामबदलू सिंह
जन्म13 जनवरी, 1876
जन्म स्थानधकला , पंजाब, भारत
पिता का नाम –
माता का नाम
राष्ट्रीयता भारतीय
धर्म
हिन्दू
जाति

जन्म

बदलू सिंह का जन्म 13 जनवरी, 1876 को भारत में पंजाब के धकला नामक स्थान पर हुआ था।

करियर

वह भारतीय थलसेना के 29वीं लैंसर से संबंद्ध 14वीं मुर्रेज जाट लैंसर में रिसालदार थे, जिन्हें फिलिस्तीन में लड़ने से पहले फ्रांस भेजा गया था।

योगदान

23 सितंबर, 1918 की सुबह बदलू सिंह के स्क्वॉड्रन ने जॉर्डन नदी के तट पर नदी और समरिए गांव के बीच स्थित दुश्मन के एक मजबूत ठिकाने पर हमला बोला। चौकी के निकट पहुंचने पर रिसालदार बदलू सिंह ने पाया कि स्क्वाड्रन को जिससे क्षति पहुंच रही थी, वह मशीनगन और 200 इनफैंट्री के कब्जे वाले बाईं तरफ की छोटी पहाड़ी से होने वाले हमले थे। बिना थोड़ी भी झिझक दिखाए उन्होंने छह अन्य सिपाहियों को लेकर पूरी गति के साथ, बिना सामने के खतरे की परवाह किए हमला बोल दिया और ठिकाने पर कब्जा लिया, जिस कारण स्क्वाड्रन भारी क्षति का शिकार बनने से बच गया।

पहाड़ी की चोटी पर वह उस वक्त गंभीर रूप से घायल हुए, जब वह एक हाथ से एक मशीनगन पर कब्जा कर रहे थे, लेकिन उनके वीरगति को प्राप्त होने से पहले सारे मशीनगन और इनफैंट्री ने समर्पण कर दिया। उनकी वीरता और उनके प्रयास उच्च कोटि के और वीरतापूर्ण थे।

शहीद

बदलू सिंह को 23 सितंबर, 1918 को जॉर्डन नदी के तट पर शहीद हुए।

सम्मान

बदलू सिंह की अंतिम क्रिया वहीं कर दी गई, जहां वह गिरे थे; लेकिन उनके नाम को कैरो स्थित हेलियोपोलिस वार सेमेट्री में हेलियोपोलिस मेमोरियल पर अंकित किया गया। उनका “विक्टोरिया क्रॉस इम्पीरियल वार म्यूजियम” में लॉर्ड ऐशक्रॉफ्ट संग्रह का अंग है।

Sonu Siwach

नमस्कार दोस्तों, मैं Sonu Siwach, Jivani Hindi की Biography और History Writer हूँ. Education की बात करूँ तो मैं एक Graduate हूँ. मुझे History content में बहुत दिलचस्पी है और सभी पुराने content जो Biography और History से जुड़े हो मैं आपके साथ शेयर करती रहूंगी.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close