बालकवि बैरागी की जीवनी – Balkavi Bairagi Biography Hindi

Spread the love

बालकवि बैरागी जी हिंदी कवि और एक प्रसिद्ध लेखक थे। वे राजनीति और साहित्य दोनों से जुडे रहे। बालकवि बैरागी जी मध्यप्रदेश सरकार के मंत्री और लोकसभा के सदस्य भी रह चुके थे तथा हिन्दी काव्य- मंचों पर भी लोकप्रिय रहे। उनकी कविता ओजगुण सम्पन्न हैं। बालकवि बैरागी जी के मुख्य काव्य-संग्रह हैं : ‘गौरव-गीत, ‘दरद दीवानी, ‘दो टूक, ‘भावी रक्षक देश के आदि। तो आइए आज इस आर्टिकल में हम आपको बालकवि बैरागी की जीवनी – Balkavi Bairagi Biography Hindiके बारे में बताएगे।

बालकवि बैरागी की जीवनी – Balkavi Bairagi Biography Hindi

जन्म

बालकवि बैरागी जी का जन्म 10 फरवरी 1931 को मंदसौर जिले की मनासा तहसील के रामपुर गाँव में हुआ था। उनके जन्म का नाम नंदराम दास बैरागी था। बैरागी जी 1980 से 1984 तक मध्यप्रदेश के मंत्री रहे और 1984 से 1989 तक वे लोकसभा के सदस्य भी रहे। इसके बाद में वे राज्यसभा के सदस्य भी रहे।

शिक्षा

 बालकवि बैरागी जी ने विक्रम विश्वविद्यालय से हिंदी में एम. ए. किया था।

बालकवि बैरागी जी की प्रमुख कविताएं

  • प्रतिनिधि रचनाएं
  • बाल कविताएं
  • फिल्मी गीत

कविता संग्रह

  • मैं उपस्थित हूँ यहाँ

प्रतिनिधि रचनाएं

  • दवीट ( दीप पात्र) पर दीप
  • झर गये पात बिसर गये टहनी
  • गन्ने में भाई
  • जो कुटिलता से जिएंगे
  • अपनी गंध नहीं बेचूंगा
  • मेरे देश के लाल
  • नौजवान आओ रे !
  • सारा देश हमारा

बाल कविताएँ

  • शिशुओं के लिए पाँच कविताएँ- पाँच अलग-अलग भागों में
  • विश्वास
  • चाँद में धब्बा
  • चाय बनाओ
  • आकाश
  • खुद सागर बन जाओ

फ़िल्मी गीत

बैरागी जी ने बॉलीवुड फिल्मों के लिए 25 से भी अधिक गीत लिखे थे। उनमे से कुछ इस प्रकार है-

  • मुझको भी राधा बना ले नंदलाल
  • तू चंदा मैं चांदनी, तू तरुवर मैं शाख रे

प्रमुख कृतियाँ

गीत, दरद दीवानी, दो टूक, भावी रक्षक देश के, आओ बच्चो गाओ बच्चो आदि बालकवि बैरागी जी की प्रमुख कृतियाँ है।

मृत्यु

उनकी मृत्यु 13 मई, 2018 को उनके गृह नगर मानसा में ही हो गई थी।