डी. वी. पलुस्कर की जीवनी – D. V. Paluskar Biography Hindi

October 26, 2019
Spread the love

डी. वी. पलुस्कर प्रसिद्ध भारतीय शास्त्रीय गायक और महान् भजन गायकार थे। उन्होने अपना पहला कार्यक्रम 14 साल की आयु में पंजाब में हरिवल्लभ संगीत सम्मेलन में दिया। उनकी पहली डिस्क 1944 में बनी और उन्होंने 1955 में भारतीय सांस्कृतिक प्रतिनिधिमंडल के सदस्य के रूप में चीन का दौरा किया। तो आइए आज इस आर्टिकल में हम आपको डी. वी. पलुस्कर की जीवनी – D. V. Paluskar Biography Hindi के बारे में बताएगे।

डी. वी. पलुस्कर की जीवनी – D. V. Paluskar Biography Hindi

डी. वी. पलुस्कर की जीवनी - D. V. Paluskar Biography Hindi

जन्म

डी. वी. पलुस्कर का जन्म 28 मई, 1921को नासिक, महाराष्ट्र, भारत में हुआ था। उनका पूरा नाम पंडित दत्तात्रेय विष्णु पलुस्कर था। उनके पिता का नाम विष्णु दिगंबर पलुस्कर था जोकि एक विख्यात हिंदुस्तानी संगीतकार थे। जब वे दस वर्ष के थे तो उनके पिता का देहांत हो गया था।

Read This -> गुलशन बावरा की जीवनी – Gulshan Bawra Biography Hindi

प्रशिक्षण 

पिता की मृत्यु के बाद उन्हें पंडित विनायकराव पटवर्धन और पंडित नारायणराव व्यास ने प्रशिक्षित किया। उन्हें पंडित चिंतामनराव और पंडित मिराशी बुवा ने भी प्रशिक्षण दिया।

Read This -> आमिर खान की जीवनी – Aamir Khan Biography Hindi

करियर

डी. वी. पलुस्कर ने अपना पहला कार्यक्रम 14 वर्ष की आयु में पंजाब में हरिवल्लभ संगीत सम्मेलन में दिया। उत्तराधिकार में उन्हें ग्वालियर घराना और गंधर्व महाविद्यालय मिला, परंतु वे अन्य घरानों और शैलियों की सुंदर विशेषताओं को अपनाने के लिए हमेशा तैयार रहते थे। उनकी आवाज़ बहुत मधुर और सुरीली थी। उनके आलाप उनके गाये राग का स्पष्ट रेखांकन करते थे; इसके बाद उनकी सहज शैली की तानों से सुसज्जित बंदिशें आती थीं। उन्हें थोड़ी ही समय में राग का संपूर्ण आकर्षक चित्र प्रस्तुत करने में महारत हासिल थी।  उन्हें फ़िल्म बैजू बावरा (1952 फ़िल्म) में उस्ताद अमीर ख़ान के साथ एक अविस्मरणीय युगलबंदी के लिए भी जाना जाता है।

मृत्यु

26 अक्टूबर 1955 को 34 वर्ष की आयु में एनसिफिलाइटिस के कारण डी. वी. पलुस्कर की मृत्यु हो गई।

Leave a comment