https://www.googletagmanager.com/gtag/js?id=UA-86233354-15
Biography Hindi

दुष्यंत चौटाला की जीवनी – Dushyant Chautala Biography Hindi

दुष्यंत चौटाला एक भारतीय राजनीतिज्ञ हैं और वे औम प्रकाश चौटाला के पोते हैं। 9 दिसंबर 2018 को इंडियन नेशनल लोकदल पार्टी से निकाले जाने के बाद एक नई पार्टी जननायक जनता पार्टी (JJP) बनाई। इस दल की स्थापना के दौरान जींद में 6 लाख से अधिक लोग जमा हुए थे। 2014 में दुष्यंत पहली बार चुनावी मैदान में उतरे थे। लोकसभा चुनाव में उन्होंने हरियाणा जनहित कांग्रेस के कुलदीप बिश्नोई को 31,847 वोटों से हराया था। दुष्यंत हिसार लोकसभा से सांसद हैं। 2019 हरियाणा विधानसभा चुनाव में उन्होने उचाना चुनाव क्षेत्र से 92504 वोट हासिल किए। इसमें भाजपा प्रत्याशी प्रेमलता को 45052 वोटों से हार का सामना करना पड़ा। तो आइए आज इस आर्टिकल में हम आपको दुष्यंत चौटाला की जीवनी – Dushyant Chautala Biography Hindi के बारे में बताएगे।

दुष्यंत चौटाला की जीवनी – Dushyant Chautala Biography Hindi

दुष्यंत चौटाला की जीवनी - Dushyant Chautala Biography Hindi

जन्म

दुष्यंत चौटालाका जन्म 3 अप्रैल 1988 को हिसार हरियाणा में हुआ था। उनके पिता का नाम अजय चौटाला तथा उनकी माता का नाम नैना चौटाला है। वे ओम प्रकाश चौटाला के पोते और पूर्व उप प्रधानमंत्री चौधरी देवी लाल के बड़े पोते हैं। उनका एक छोटा भाई दिग्विजय चौटाला है। दुष्यंत चौटाला ने 18 अप्रैल 2017 को मेघना चौटाला से शादी की थी। मेघना सीनियर आइपीएस परमजीत अहलावत की बेटी हैं।

शिक्षा

दुष्यंत की शुरुआती शिक्षा   सेंट मैरी स्कूल, हिसार से प्राप्त की है। इसके बाद आगे की पढ़ाई उन्होंने लॉरेन्स स्कूल, हिमाचल प्रदेश से किया है। दुष्यंत ने अमेरिका की कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी से बिजनेस मैनेजमेंट की पढ़ाई भी की है। इसके अलावा वह नेशनल लॉ कॉलेज से कानून में पोस्ट ग्रेजुएट भी हैं।

करियर

दुष्यंत चौटाला ने हरियाणा जनहित कांग्रेस (बीएल) के कुलदीप बिश्नोई को 31,847 वोटों के अंतर से हराया  2014 के लोकसभा चुनावों में वह सबसे कम उम्र के संसद सदस्य चुने गए, इस रिकॉर्ड को लिम्का बुक में दर्ज किया गया है।

दुष्यंत चौटाला ने 9 दिसंबर 2018 को इंडियन नेशनल लोकदल से निकाले जाने के बाद एक नई पार्टी जननायक जनता पार्टी (JJP) शुरू की। इस दल की स्थापना के दौरान जींद में 6 लाख से अधिक लोग जमा हुए थे। यह 1986 के बाद से एक राजनीतिक कार्यक्रम में देखा जाने वाला हरियाणा है, जो अपने दादा और भारत के पूर्व उप प्रधानमंत्री, देवी लाल के सार्वजनिक संबोधन के दौरान देखा गया था। चौटाला पहले भारतीय हैं जिन्हें एरिज़ोना (यूएसए) की विधानसभा में उच्च नागरिक सम्मान से सम्मानित किया गया है।

जननायक जनता पार्टी का गठन

जननायक जनता पार्टी का गठन 9 दिसंबर 2018 को जींद में दुष्यंत चौटाला के समर्थकों द्वारा किया गया था। दुष्यंत चौटाला के नेतृत्व में जननायक जनता पार्टी ने जींद का उपचुनाव लड़ा। अपने पहले चुनाव (जींद उपचुनाव) में जननायक जनता पार्टी (JJP) को 37631 वोट मिले और सभी विपक्षी दलों को पीछे छोड़ते हुए दूसरा स्थान हासिल किया। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने न केवल दुष्यंत चौटाला की प्रशंसा की, बल्कि जेजेपी का समर्थन भी किया।

जेजेपी का गठन जननायक चौधरी देवी लाल के नाम पर किया गया था जो एक महान नेता और भारत के पूर्व उप प्रधानमंत्री थे।

शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार और कृषि जेजेपी के मुख्य मुद्दे हैं।

विभाजन के बाद आईएनएलडी ने अपनी छात्र शाखा को भंग कर दिया, उन्होंने इनसो (भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन) पर कब्जा कर लिया, जो हरियाणा में छात्रों के जीवन को विकसित करने और प्रशस्त करने में एक प्रमुख भूमिका निभाता है।

2019 हरियाणा विधानसभा चुनाव में उन्होने उचाना चुनाव क्षेत्र से 92504 वोट हासिल किए। इसमें भाजपा प्रत्याशी प्रेमलता को 45052 वोटों से हार का सामना करना पड़ा।

उपलब्धियां

  • दुष्यंत चौटाला भारतीय संसद के इतिहास में सबसे कम उम्र के सांसद हैं। इस रिकॉर्ड को लिम्का बुक में दर्ज किया गया है।
  • दुष्यंत टेबल टेनिस फेडरेशन ऑफ इंडिया के सबसे कम उम्र के अध्यक्ष हैं वो किसी भी राष्ट्रीय खेल महासंघ (एनएसएफ) के सबसे कम उम्र के प्रेसी‍डेंट हैं।
  • इंटर-पार्लियामेंटरी यूनियन (IPU) के दूसरे ‘ग्लोबल कॉन्फ्रेंस ऑफ यंग एमपी’ में भारत से शामिल हुए।
  • ये कॉन्फ्रेंस 2015 में टोक्यो जापान में आयोजित की गई थी।

Sonu Siwach

नमस्कार दोस्तों, मैं Sonu Siwach, Jivani Hindi की Biography और History Writer हूँ. Education की बात करूँ तो मैं एक Graduate हूँ. मुझे History content में बहुत दिलचस्पी है और सभी पुराने content जो Biography और History से जुड़े हो मैं आपके साथ शेयर करती रहूंगी.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close