https://www.googletagmanager.com/gtag/js?id=UA-86233354-15
Biography Hindi

जॉन मथाई की जीवनी – John mathai Biography Hindi

जॉन मथाई भारत के शिक्षाविद, न्यायविद्, देश के पहले रेल मंत्री और अर्थशास्त्री थी। वे आजादी के बाद 1948 तक रेल मंत्री रहे। उन्होने देश के वित मंत्री रहते हुए दो आम बजट पेश किए। इसके बाद में उन्होने मंत्री मण्डल से इस्तीफा दे दिया। 1955 में स्टेट बैंक के गठन के बाद वे इसके पहले चेयरमैन भी रहे। मुंबई विश्वविद्यालय के वाइस चांसलर भी रहे। जॉन मथाई को पद्मश्री और फिर पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया। तो आइए आज इस आर्टिकल में हम आपको जॉन मथाई की जीवनी – John mathai Biography Hindi के बारे में बताएगे।

जॉन मथाई की जीवनी – John mathai Biography Hindi

जॉन मथाई की जीवनी - John mathai Biography Hindi

जन्म

जॉन मथाई का जन्म 10 जनवरी 1886 को कलिकट, मद्रास, ब्रिटिश भारत (अब कोझिकोडे, केरल, भारत) में हुआ था।

शिक्षा

जॉन मथाई की प्रारंभिक शिक्षा त्रिवेंद्रम में ही हुई। इसके बाद उन्होंने मद्रास क्रिश्चियन कालेज में शिक्षा प्राप्त की। बी ए तथा बी एल की डिग्रियाँ प्राप्त कर वे लंदन गए और ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय से बी लिट् की डिग्री प्राप्त की। फिर उन्होंने डी एस-सी की डिग्री लंदन विश्वविद्यालय से प्राप्त की।

करियर

1910 ई से 1918 ई तक वे मद्रास हाईकोर्ट के वकील रहे। 1920 ई से 1925 ई तक मद्रास के प्रेजीडेंसी कालेज में अर्थशास्त्र के प्रोफेसर रहे। 1922 ई से 1925 ईदृ तक वे मद्रास लेजिस्लेटिव कौंसिल के तथा 1925 से 1931 तक इंडियन टैरिफ बोर्ड के सदस्य रहे। 1935 में वे कामर्शियल इंटेलिजेंस तथा स्टैटिस्टिक्स के महा निदेशक नियुक्त हुए। 10 जनवरी 1940 ई को उन्हें अवकाश प्राप्त हुआ।

1944 ई से 1946 ई तक टाटा संस लिमिटेड के निदेशक रहने के बाद केंद्र में परिवहन मंत्री बने। वे आजादी के बाद 1948 तक रेल मंत्री रहे। इसके बाद 1950 तक उन्होंने वित्त मंत्री का कार्यभार संभाला। उन्होने देश के वित मंत्री रहते हुए दो आम बजट पेश किए और फिर यहाँ से त्यागपत्र देकर वे पुन: टाटा संस लिमिटेड के निदेशक नियुक्त हुए। जुलाई, 1955 ई से सितंबर, 1956 ई तक वे भारतीय स्टेट बैंक के बोर्ड ऑव डाइरेक्टर्स के अध्यक्ष रहे। इसी बीच वे मुंबई विश्वविद्यालय के उपकुलपति नियुक्त हुए और फिर 1958 से 1959 तक केरल विश्वविद्यालय के उपकुलपति रहे।

पुस्तकें

  • विलेज गवर्नमेंट इन ब्रिटिश इंडिया
  • ऐग्रीकलचरल कोआपरेशन इन इंडिया,
  • एक्साइज ऐंड लिकर कंट्रोल।

पुरस्कार

  • पद्मश्री
  • 1959 ई में भारत सरकार ने उन्हें पद्मविभूषण की उपाधि से विभूषित किया।

मृत्यु

जॉन मथाई की मृत्यु 1959 ई में हुई।

Sonu Siwach

नमस्कार दोस्तों, मैं Sonu Siwach, Jivani Hindi की Biography और History Writer हूँ. Education की बात करूँ तो मैं एक Graduate हूँ. मुझे History content में बहुत दिलचस्पी है और सभी पुराने content जो Biography और History से जुड़े हो मैं आपके साथ शेयर करती रहूंगी.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close