https://www.googletagmanager.com/gtag/js?id=UA-86233354-15
Biography Hindi

मनोज कुमार की जीवनी – Manoj Kumar Biography Hindi

Manoj Kumar फिल्म जगत् के प्रसिद्ध भारतीय अभिनेता, निर्माता व निर्देशक हैं। उन्हे 1965 में आई फिल्म शहीद से पहचान मिली। प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री ने जय जवान, जय किसान पर फिल्म बनाने का आग्रह किया तो उपकार फिल्म बनाई। उन्होने वो कौन थी, हिमालय की गुड में, गुमनाम जैसी कुछ बहेतरीन फिल्में रही। 1992 में उन्हे पद्मश्री अवॉर्ड से सम्मानित किया गया। 2016 में उन्हे भारत सरकार द्वारा दादा साहब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित। तो आइए आज इस आर्टिकल में हम आपको मनोज कुमार की जीवनी – Manoj Kumar Biography Hindi के बारे में बताएगे।

मनोज कुमार की जीवनी – Manoj Kumar Biography Hindi

मनोज कुमार की जीवनी - Manoj Kumar Biography Hindi

जन्म

मनोज कुमार का जन्म 24 जुलाई 1937 में पाकिस्तान के एबटाबाद में हुआ था। उनका वास्तविक नाम हरिकिशन गिरि गोस्वामी है। इसके अलावा उन्हे भारत कुमार के नाम से भी जाना जाता है। उनके पिता का नाम एच.एल. गोस्वामी तथा उनकी माता का नाम कृष्णा कुमारी गोस्वामी है। मनोज कुमार के एक भाई और उनकी एक बहन है जिनका नाम राजीव गोस्वामी, नीलम गोस्वामी है। उनकी पत्नी का नाम शशि गोस्वामी है। उनके 2 बेटे है जिनका नाम विशाल गोस्वामी और कुणाल गोस्वामी है।

हाइट और वजन

  • मनोज कुमार की हाइट  5 फिट 10 इंच है।
  • उनका वजन लगभग 85 कि० ग्रा० है।

शिक्षा

Manoj Kumar ने हिंदू कॉलेज, दिल्ली विश्वविद्यालय से स्नातक की शिक्षा प्राप्त करने के बाद उन्होंने फ़िल्म उद्योग में प्रवेश करने का फैसला किया।

करियर

मनोज कुमार का अभिनय करियर वर्ष 1957 की फ़िल्म फ़ैशन से शुरू हुआ, जिसमें उन्होंने एक 80 वर्षीय व्यक्ति की भूमिका निभाई थी। उन्हे 1965 में आई फिल्म शहीद से पहचान मिली। उन्होंने अधिकतर देशभक्ति फिल्मों में अभिनय किया। 1965 की फिल्म शहीद के बाद मनोज कुमार की छवि एक देशभक्त के रूप में स्थापित हो गई। यह फिल्म स्वतंत्रता सेनानी भगत सिंह के जीवन पर आधारित थी। वो एक फिल्म निर्माता एवं निर्देशक भी थे।965 में भारत-पाक युद्ध के बाद, भारत के तत्कालीन प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री ने उन्हें एक लोकप्रिय नारा “जय जवान जय किसान” के आधार पर एक फिल्म बनाने के लिए कहा। जिसके चलते उन्होंने वर्ष 1967 में “उपकार” फिल्म को निर्देशित किया, जिसमें उन्होंने एक सैनिक और एक किसान की भूमिका निभाई थी।

Manoj Kumar की फिल्मों में ‘हरियाली और रास्ता’ (1962), ‘वो कौन थी’ (1964), ‘शहीद’ (1965), ‘हिमालय की गोद में’ (1965), ‘गुमनाम’ (1965), ‘पत्थर के सनम’ (1967), ‘उपकार’ (1967), ‘पूरब और पश्चिम’ (1969), ‘रोटी कपड़ा और मकान’ (1974), ‘क्रांति प्रमुख हैं।

फिल्में

 
बतौर अभिनेताबतौर लेखक
वर्षफ़िल्मवर्षफ़िल्मवर्षफ़िल्म
1995मैदान-ए-जंग1999जय हिन्द1967उपकार
1989देशवासी1989संतोष1989क्लर्क
1987कलयुग और रामायण1981क्रांति1987कलयुग और रामायण
1979जाट पंजाबी1977शिरडी के साईं बाबा1981क्रांति
1977अमानत1976दस नम्बरी1974रोटी कपड़ा और मकान
1975संन्यासी1974रोटी कपड़ा और मकान1999जय हिन्द
1972बेईमान1972शोर1972शोर
1970मेरा नाम जोकर1970पूरब और पश्चिम1970मेरा नाम जोकर
1970यादगार1970पहचान1970पूरब और पश्चिम
1969साजन1968नीलकमल1970यादगार
1968आदमी1967अनीताबतौर निर्माता
1967उपकार1967पत्थर के सनम1999जय हिन्द
1966दो बदन1966पिकनिक1989क्लर्क
1966सावन की घटा1965हिमालय की गोद में1983पेंटर बाबू
1965पूनम की रात1965शहीद1981क्रांति
1965बेदाग़1965गुमनाम1974रोटी कपड़ा और मकान
1964वो कौन थी1964अपने हुए पराये1972शोर
1964फूलों की सेज1963घर बसा के देखो1970पूरब और पश्चिम
1963गृहस्थी1962हरियाली और रास्ताबतौर निर्देशक
1962माँ बेटा1962अपना बना के देखो1999जय हिन्द
1962बनारसी ठग1962डॉक्टर विद्या1989क्लर्क
1962नकली नवाब1962शादी1981क्रांति
1961सुहाग सिन्दूर1961काँच की गुड़िया1974रोटी कपड़ा और मकान
1961रेशमी रूमाल1960हनीमून1972शोर
1958पंचायत1958सहारा1970पूरब और पश्चिम
1957फैशन1967उपकार

पुरस्कार

  • 1992 में उन्हे पद्मश्री अवॉर्ड से सम्मानित किया गया।
  • फिल्म ‘उपकार’ के लिए मनोज कुमार को नेशनल अवॉर्ड से नवाजा गया था।
  • 1968- फ़िल्म ‘उपकार’ के लिए सर्वश्रेष्ठ फ़िल्म, सर्वश्रेष्ठ निर्देशक, सर्वश्रेष्ठ कथा और सर्वश्रेष्ठ संवाद श्रेणी में फ़िल्मफेयर पुरस्कार
  • उन्हे 1972 में फ़िल्म ‘बेईमान’ के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का फ़िल्मफेयर पुरस्कार से नवाजा गया।
  • फ़िल्म ‘रोटी कपड़ा और मकान’ के लिए 1975 में उन्हे सर्वश्रेष्ठ निर्देशक का फ़िल्मफेयर पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
  • 1999 में लाइफ़ टाइम अचीवमेंट के लिए फ़िल्मफेयर पुरस्कार से नवाजा गया।
  • Manoj Kumar को 2008 मेंं मध्य प्रदेश सरकार ने किशोर कुमार सम्मान से सम्मानित किया।
  • 2016 में उन्हे फिल्म जगत में महत्वपूर्ण योगदान देने के लिए भारत सरकार द्वारा मनोज कुमार को दादा साहेब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

विवाद

2007 में Manoj Kumar तब सुर्ख़ियों में आए जब फिल्म ओम शांति ओम में उनकी छवि का मजाक उड़ाया गया था। तब मनोज कुमार ने फिल्म के निर्माता शाहरुख़ खान और निर्देशक फ़राह खान पर मानहानि का केस दर्ज किया।

Sonu Siwach

नमस्कार दोस्तों, मैं Sonu Siwach, Jivani Hindi की Biography और History Writer हूँ. Education की बात करूँ तो मैं एक Graduate हूँ. मुझे History content में बहुत दिलचस्पी है और सभी पुराने content जो Biography और History से जुड़े हो मैं आपके साथ शेयर करती रहूंगी.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close