नरेंद्र मोदी की जीवनी – Narendra Modi Biography Hindi

Spread the love

प्रधानमंत्री पद पर आसीन होने वाले नरेंद्र मोदी जी के पिता साधारण परिवार से थे। जिनकी 6 संताने थी। जिनमें तीसरे नरेंद्र मोदी थे। वाद विवाद में नरेंद्र मोदी की अच्छी पकड़ थी। मोदी जी ने बड़नगर के स्कूल से पढ़ाई पूरी की। वे भारतीय जनता पार्टी से संबंध रखते हैं. उन्होंने भारत के विकास के लिए अनेक सराहनीय काम किए हैं तो आइए आज इस आर्टिकल में हम आपको नरेंद्र मोदी की जीवनी – Narendra Modi Biography Hindi के बारे में बताते हैं.

नरेंद्र मोदी की जीवनी – Narendra Modi Biography Hindi

नरेंद्र मोदी की जीवनी

जन्म

नरेंद्र मोदी का जन्म 17 सितंबर1950 बड़नगर जिला मेहसना गुजरात में हुआ। उनका पूरा नाम नरेंद्र दामोदर दास मोदी है। उनके पिता का नाम श्री दामोदरदास मूलचंद मोदी माता का नाम श्रीमती हीराबेन मोदी है। नरेंद्र मोदी के भाइयों के नाम सोमाभाई मोदी, अमृत मोदी, प्रहलाद मोदी, पंकज मोदी उनकी बहन का नाम वासंती है।

मोदी का बचपन बहुत ही गरीबी में बीता, उनके पिता की चाय दुकान करते थे, उनकी माता लोगों के घरों में बर्तन साफ करती थी। मोदी जी एक कच्चे मकान में रहते थे। उनके जीवन में बहुत सारे उतार-चढ़ाव आए। बचपन में स्वामी विवेकानंद के विचारों को आदर्श मानते थे। मोदी जी को पढ़ने का बहुत शौक था। लेकिन कुछ पारिवारिक समस्याओं के कारण 1967 में 17 वर्ष की आयु में उन्होंने घर छोड़ दिया।

शिक्षा

नरेंद्र मोदी जी ने स्कूली शिक्षा वडनगर में पूरी की। उन्होंने RSS प्रचारक रहते हुए 1980 में गुजरात विश्वविद्यालय से राजनीतिक विज्ञान में स्नातकोत्तर परीक्षा पूरी की और M.SC की डिग्री प्राप्त की।

राजनीतिक जीवन

नरेंद्र मोदी जी ने राजनीतिक जीवन अति सक्रियता दिखाई और वे भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए। गुजरात में शंकर सिंह वाघेला का जनाधार मोदी जी की वजह से ही मजबूत हो पाया था। अप्रैल 1990 में केंद्र में मिली जुली सरकार का समय आया और मोदी जी की मेहनत रंग लाई। भारतीय जनता पार्टी ने अपने बलबूते दो तिहाई बहुमत प्राप्त किए 1995 में सरकार बनाई । इस दौरान दो राष्ट्रीय घटनाएं-

पहेली घटना में आडवाणी जिन्होंने सोमनाथ से लेकर अयोध्या तक रथ यात्रा निकाली इसमें प्रमुख सारथी का काम नरेंद्र मोदी जी ने किया इसी प्रकार मुरली मनोहर जी ने कन्या कुमारी से लेकर सुदूर उत्तर में स्थित कश्मीर तक की यात्रा का काम मोदी जी देखरेख में हुआ की बाद में शंकर सिंह वाघेला में पार्टी से त्यागपत्र दे दिया केशु भाई पटेल को गुजरात का मुख्यमंत्री बना दिया गया और फिर मोदी जी को दिल्ली बुलाया गया और भाजपा में संगठन की दृष्टि से केंद्रीय मंत्री बनाया गया।

1995 में मोदी जी को पाँच प्रमुख राज्यों के पार्टी संगठन का काम दिया गया। 1998 में राष्ट्रीय महामंत्री संगठन सौंपा गया और उस पद पर 2001 तक मोदी ने काम किया। 2001 में केशुभाई को हटा कर नरेंद्र मोदी जी को मुख्यमंत्री पद सौंपा गया। मोदी जी चाहते थे उन्हें गुजरात की जिम्मेदारी मिली भक्ति गाना उन्होंने तेल के उप मुख्यमंत्री बनने का प्रस्ताव भी करा दिया और अटल बिहारी बाजपेयी आडवाणी से कहा कि:-

अगर मुझे मुख्यमंत्री बनाना है तो अकेले को बनाओ जिस कारण 3 अक्टूबर 2001 को वे मुख्यमंत्री बने 2002 में आने वाले चुनाव के पूरे जिम्मेदारी भी अपने ऊपर ली

7 अक्टूबर 2001 को उनका मुख्यमंत्री कार्यकाल का पहला दिन था इसके बाद मोदी जी ने राजकोट चुनाव लड़ा जिसमें उन्होंने कांग्रेस पार्टी के सोनी मेहता को 14728 वोटों से हराया। नरेंद्र मोदी की जीवनी – Narendra Modi Biography Hindi

गुजरात के विकास किया और योजनाएं

  • पंचामृत योजना-  राज्य के एकजुट विकास की योजना।
  • सुजलाम सुफलाम – राज्य में जल स्रोतों का उचित बर्बाद किए उपयोग, ताकि जल बर्बाद ना हो सके ।
  • कृषि महोत्सव – उपजाऊ भूमि के लिए शोध के प्रयोगशाला।
  • चिरंजीवी योजना- जन्म लेने वालों की मृत्यु दर में कमी लाना
  • मां वंदना- जच्चा बच्चा के स्वास्थ्य की रक्षा करना।
  • बेटी बचाओ – भ्रूण हत्या और लिंगानुपात पर रोक
  • ग्राम योजना- हर गांव में बिजली पहुंचाना
  • कर्म योगी अभियान – सरकारी कर्मचारियों में अपने काम के प्रति निष्ठा जगाना।

उन्होंने आदिवासियों के लिए भी विकास योजनाएं प्रारंभ की

  • पाँच लाख लोगों के परिवार को रोजगार।
  • ऊंचे स्तर पर शिक्षा की गुणवत्ता।
  • आर्थिक विकास।
  • स्वास्थ्य।
  • आवास
  • पीने का साफ पानी
  • सिंचाई
  • बिजली
  • सड़क
  • शहरी विकास।

गुजरात में हुए दंगे

27 फरवरी 2002 को अयोध्या से गुजरात वापस लौट कर आ रहे कारसेवकों को गोधरा स्टेशन पर ट्रेन को मुसलमानों की खतरनाक भीड़ ने आग लगाकर जला दिया था जिसमें लगभग 59 कारसेवक मारे गए थे।

जिसके कारण गुजरात में हिंदू मुस्लिम दंगे भड़क चुके थे। जिसमें लगभग मरने वालों की संख्या 1180 की ओर से ज्यादातर अल्प संख्यक लोग थे। इस घटना का जिम्मेदार मोदी प्रशासन को ठहराया गया। और कांग्रेस और विपक्षी दलों ने नरेंद्र मोदी को जिम्मेदार ठहराते हुए उनके इस्तीफे की मांग की। बाद में मोदी जी ने गुजरात के 10 वीं विधानसभा में अपना त्यागपत्र दे दिया। दोबारा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने मोदी जी के नेतृत्व में विधानसभा की 182 सीटों में से 127 सीटे जीती ।

26 जुलाई 2012 को नई दुनिया लेखक शाहिद सिद्दीकी ने मोदी जी का इंटरव्यू लिया जिसमें मोदी जी ने कहा कि जैसा कि मैं पहले भी कह चुका हूं 2002 के दंगों के पीछे मेरा कोई हाथ नहीं है। तो मैं इसके लिए क्यों माफी मांगू? अगर मेरी सरकार ने ऐसा किया है तो मुझे फांसी पर चढ़ा दिया जाए।

प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार

भाजपा कार्यसमिति द्वारा गोवा में नरेंद्र मोदी को 2014 की लोकसभा चुनाव की कमान सौपी गई। सितंबर 2013 संसदीय बोर्ड की बैठक में लोकसभा चुनावों के लिए नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित किया गया। लालकृष्ण आडवाणी की गैरमौजूदगी में पार्टी के अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने यह घोषणा की।

नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री के लिए पहली रैली हरियाणा से रेवाड़ी शहर में की। सांसद प्रत्याशी के रूप में देश की 2 लोकसभा सीटों से वाराणसी और वडोदरा से चुनाव लड़ा और विजयी रहे ।

लोकसभा चुनाव में मोदी जी की स्थिति

समाचार पत्रों और समाचार चैनलों के सर्वेक्षण के अनुसार मोदी जी देश की पहली पसंद थी जो प्रधानमंत्री बनने के लायक भी थे। इंटरव्यू के दौरान नोबेल पुरस्कार विजेता अर्थशास्त्रीअमृत्य सेन मोदी को बेहतर प्रधानमंत्री नहीं मानते हैं। इसके बावजूद भगवती और अरविंद पानगढ़िया को मोदी जी का अर्थशास्त्र का लगता है।

  • प्रधानमंत्री बनने के बाद मोदी जी ने पूरे भारत का भ्रमण किया और उन्होंने किलोमीटर की यात्रा की ।
  • नरेंद्र मोदी जी ने पूरे देश में 437 चुनावी रैलियां, 3D सभाएं और चाय चर्चा आदि को मिला कर को मिलाकर लगभग 5827 कार्यक्रम किए।
  • नरेंद्र मोदी जी ने 26 मार्च 2017 को चुनाव अभियान की शुरूआत मां वैष्णो देवी के आशीर्वाद के साथ मंगल पांडे की जन्मभूमि बलिया से शुरू की।

चुनाव परिणाम

  • गठबंधन में 36 सीटें जीतकर सबसे बड़े दल रूप में उभरे भारतीय जनता पार्टी में से 282 सीटों पर जीत हासिल की इसमें से केवल कांग्रेस को 44 सीटें मिली और उसके साथ गठबंधन को 15 सीटों में ही संतोष करना पड़ा।
  • नरेंद्र मोदी भारत में जन्मे मात्र ऐसे व्यक्ति हैं जिन्होंने 2001 से 2014 तक 13 साल गुजरात के14 वे मुख्यमंत्री के रूप में और हिंदुस्तान के 15 वे प्रधानमंत्री बने।

विदेशों की यात्रा

  • उन्होंने सबसे पहले भूटान की यात्रा की।
  • नेपाल यात्रा के समय पशुपतिनाथ मंदिर पूजा की।
  • ब्रिक्स सम्मेलन में नए विकास की स्थापना।
  • अमेरिका और चीन से पहले जापान की यात्रा।
  • पाकिस्तान को अंतरराष्ट्रीय से अलग करने के सफल प्रयास।
  • जुलाई 2017 की यात्रा और नए संबंध बनाए।

भारत में नरेंद्र मोदी द्वारा किए गए विकास कार्य

  • सूचना प्रौद्योगिकी = डिजिटल भारत
  • स्वच्छ भारत अभियान
  • रक्षा नीति= मोदी जी ने रक्षा बलों को मजबूत करने के लिए 2015 में रक्षा बजट का 11 प्रतिशत बढ़ा बढ़ा दिया 4 सितंबर 2015 में उनके सरकार ने समान रैंक समान पेंशन की बहुत लंबे समय से की जा रही मांग को भी स्वीकारा।
  • 30 सितंबर 2016 को केंद्र में रेखा के पार सर्जिकल स्ट्राइक
  • इनकी मनमानी का कड़ा विरोध और प्रतिकार किया
  • मोदी सरकार ने भारत के नागा विद्रोहियों के साथ शांति समझौता किया
  • उन्होंने आम लोगों से जुड़ने के कार्यक्रम मन की बात कार्यकर्म शुरू किया जिससे वे लोगों की बातों को जानना और अपने द्वारा चलाई गई योजनाओं से जुड़ने के लिए प्रेरित किया।

सम्मान

  • 2016 में विश्व के शक्तिशाली व्यक्ति का स्थान मिला।
  • अप्रैल 2016” अब्दुल अजीज अल सऊद के आदेश “ में नरेंद्र मोदी को मैं नरेंद्र मोदी को सऊदी अरब के उच्चतम नागरिक सम्मान मिला।
  • जून 2016 में अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गानी ने भारतीय प्रधानमंत्री को सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार अमीर अमानुल्लाह अवार्ड से सम्मानित किया।

ऐतिहासिक जीत

2019 में एक बार फिर नरेंद्र मोदी ने जीत दर्ज की यह एक ऐतिहासिक जीत है। नरेंद्र मोदी अब जवाहरलाल नेहरू और इंदिरा गांधी की लीग में शामिल हो चुके हैं । 48 साल बाद कोई पार्टी लगातार दूसरी बार बहुमत में आई है। नेहरू और इंदिरा गांधी के बाद ऐसी जीत पाने वाले मोदी पहले गैर -कांग्रेसी है। आखिरी बार 1971 में इंदिरा गांधी ने ऐसा बहुमत पाया था। नरेंद्र मोदी की जीवनी – Narendra Modi Biography Hindi

जवाहरलाल नेहरू

  • 1952 – 364 सीटें – 45% वोट शेयर
  • 1957 – 371 सिटी – 48% वोट शेयर
  • 1962 – 361 सीटें – 45% वोट शेयर

इंदिरा गांधी

  • 1967 – 283 सीटें – 41% वोट शेयर
  • 1971 – 352 सीटें – 44% वोट शेयर

नरेंद्र मोदी

  • 2014 – 282 सीटें – 31% वोट शेयर
  • 2019 – 303 सीटें – 38.5 % वोट शेयर

देश से वादे

अपनी जीत के बाद नरेंद्र मोदी ने देश 3 वादे किए वे इस प्रकार है-

  1. काम करने में गलतियां हो जाती है। परबद नियत और बद इरादे से कुछ नहीं करूंगा।
  2. अपने लिए कुछ नहीं करूंगा। जो कुछ भी करूंगा सिर्फ देश के लिए करूंगा।
  3.  मेरे समय का पल पल और मेरे शरीर का कण-कण मेरे देश के लिए होगा।