https://www.googletagmanager.com/gtag/js?id=UA-86233354-15
Biography Hindi

नरेश मेहता की जीवनी – Naresh Mehta Biography Hindi

नरेश मेहता (English – Naresh Mehta) हिन्दी के यशस्वी कवि एवं उन शीर्षस्थ लेखकों में से हैं, जो भारतीयता की अपनी गहरी दृष्टि के लिए जाने जाते हैं। उन्होने इन्दौर से प्रकाशित ‘चौथा संसार’ हिन्दी दैनिक का सम्पादन भी किया। नरेश महेता को ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

नरेश मेहता की जीवनी – Naresh Mehta Biography Hindi

Naresh Mehta Biography Hindi
Naresh Mehta Biography Hindi

संक्षिप्त विवरण

नामनरेश मेहता
पूरा नाम, अन्य नाम
नरेश मेहता
जन्म15 फरवरी, 1922
जन्म स्थानशाजापुर, मध्य प्रदेश, भारत
पिता का नाम
माता  का नाम
राष्ट्रीयता भारतीय
मृत्यु
22 नवंबर 2000
मृत्यु स्थान

जन्म

नरेश मेहता का जन्म 15 फरवरी, 1922 को मध्य प्रदेश के मालवा क्षेत्र के शाजापुर कस्बे में हुआ था।

शिक्षा

Naresh Mehta ने बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय से अपनी एम.ए.  की शिक्षा प्राप्त किया।

करियर

नरेश मेहता ने आल इण्डिया रेडियो इलाहाबाद में कार्यक्रम अधिकारी के रूप में कार्य किया। नरेश मेहता दूसरा सप्तक के प्रमुख कवि के रूप में प्रसिद्ध हैं।

भाषा शैली

नरेश मेहता की भाषा संस्कृतनिष्ठ खड़ीबोली है। शिल्प और अभिव्यंजना के स्तर पर उसमें ताजगी और नयापन है। उन्होंने सीधे, सरल बिम्बों का प्रयोग भी किया है। नरेश मेहता की भाषा विषयानुकूल, भावपूर्ण तथा प्रवाहमयी है। उनके काव्य में रूपक, मानवीकरण, उपमा, उत्प्रेक्षा, अनुप्रास आदि अलंकारों का प्रयोग हुआ है। नवीन उपमानों के साथ-साथ परंपरागत और नवीन छंदों का प्रयोग किया है। रागात्मकता, संवेदना और उदात्तता उनकी सर्जना के मूल तत्त्व है, जो उन्हें प्रकृति और समूची सृष्टि के प्रति पर्युत्सुक बनाते हैं। आर्य परम्परा और साहित्य को नरेश मेहता के काव्य में नयी दृष्टि मिली। साथ ही, प्रचलित साहित्यिक रुझानों से एक तरह की दूरी ने उनकी काव्य-शैली और संरचना को विशिष्टता दी।

मुख्य रचनाएँ

  • अरण्या
  • उत्तर कथा
  • एक समर्पित महिला
  • कितना अकेला आकाश
  • चैत्या
  • दो एकान्त
  • धूमकेतुः एक श्रुति
  • पुरुष
  • प्रति श्रुति
  • प्रवाद पर्व
  • बोलने दो चीड़ को
  • यह पथ बन्धु था
  • हम अनिकेतन

पुरस्कार

  •  नरेश मेहता को उनकी साहित्यिक सेवाओं के लिए 1992 में ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
  • 1988 में साहित्य अकादमी पुरस्कार से नवाजा गया।

निधन

नरेश मेहता का निधन 22 नवंबर 2000 ई. में हुआ था।

Sonu Siwach

नमस्कार दोस्तों, मैं Sonu Siwach, Jivani Hindi की Biography और History Writer हूँ. Education की बात करूँ तो मैं एक Graduate हूँ. मुझे History content में बहुत दिलचस्पी है और सभी पुराने content जो Biography और History से जुड़े हो मैं आपके साथ शेयर करती रहूंगी.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close