Biography Hindi

ओसामा बिन लादेन की जीवनी – Osama Bin Laden Biography Hindi

ओसामा बिन लादेन, अलकायदा नाम के एक आतंकी संगठन का एक मुख्य आदमी था। यह संगठन 11 सितंबर 2001 को अमेरिका के न्यूयॉर्क शहर के वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर हुए हमले के साथ विश्व के कई देशों में आंतक फैलाने और आंतकवादी गतिविधियां चलाने का दोषी है. 2 मई 2011 को पाकिस्तान में अमेरिकी सेना के एक हमले में उसे मारा गिराया। अब हम आपको ओसामा बिन लादेन की जीवनी – Osama Bin Laden Biography Hindi के बारे में बताने जा रहे है.

ओसामा बिन लादेन की जीवनी – Osama Bin Laden Biography Hindi

ओसामा बिन लादेन की जीवनी

जन्म

सऊदी अरब के एक दौलतमंद परिवार में जन्मे ओसामा बिन लादेन का जन्म 10 मार्च 1957 को हुआ। 9/11 के  अमेरिका हमलों के बाद ओसामा बिन लादेन चर्चा में आ गए। यह मोहम्मद बिन लादेन के 52 बच्चों में से 17वे में थे। मोहम्मद बिन लादेन सऊदी अरब के अरबपति बिल्डर थे जिनकी कंपनी ने देश की लगभग 80 फ़ीसदी सड़कों का निर्माण किया था।

1968 में जब ओसामा बिन लादेन के पिता की एक हेलीकॉप्टर दुर्घटना में मृत्यु हुई तो वे युवावस्था में ही करोड़पति बन गए। इनकी तीन पत्नियां थी जिनमें से अमल-अल-सहदा (Amal-al- adah) सबसे प्रिय थी और इनके 10 बच्चे थे जिनके नाम Omar bin laden, Hamza bin laden, Saad bin laden आदि।

शिक्षा

ओसामा बिन लादेन ने सऊदी अरब के शाह अब्दुल्ला अजीज विश्वविद्यालय में सिविल इंजीनियरिंग की पढ़ाई के दौरान वे कट्टरपंथी इस्लामी शिक्षक और छात्रों के संपर्क में आए और अनेक बहस और सोच विचार के बाद वे पश्चिमी देशों में मूल्यों के पतन के खिलाफ और इस्लाम के कट्टरपंथी गुटों के समर्थन में खड़े हुए । यूरोप में मनाई गई छुट्टियों की तस्वीरों में वे अपने परिवार के साथ फैशनेबल कपड़ों में भी देखे जा सकते हैं।

शिक्षा के बाद में उनके जीवन यात्रा

  • 1973 में ओसामा बिन लादेन ने खुद को समर्पण थे मुस्लिम गुटों से  जोड़ा।
  • 1979 में ओसामा बिन लादेन को युवा लादेन मुजाहिदीन के नाम से जाने जाने लगे, और वे लड़ाकू की मदद के लिए अफगानिस्तान गए। ओसामा बिन लादेन एक गुट का प्रमुख आर्थिक मददगार बन गया जो बाद में अलकायदा कहलाया।
  • 1989 में अफगानिस्तान में सोवियत संघ के हटने के बाद लादेन परिवार के निर्माण कंपनी के लिए काम करने के उद्देश्य से सऊदी अरब लौट आए।  यहां उन्होंने अफगान युद्ध में मदद करने के उद्देश्य से धन जुटाना शुरू कर दिया। अलकायदा एक वैश्विक गुट बना और इसका मुख्यालय अफगानिस्तान रहा,  जबकि इस गुट के सदस्य 35 से 60 देशों में मौजूद थे।
  • 1991 में अमेरिकी नीति गठबंधन ने कुवैत से इराकी बलों को खदेड़ने के लिए युद्ध किया। ओसामा बिन लादेन ने अमेरिकी बलों के खिलाफ जिहाद शुरू की। सरकार विरोधी गतिविधियों के चलते उसे सऊदी अरब से  निकाल दिया गया। सऊदी अरब ने ओसामा बिन लादेन और उसके परिवार की नागरिकता को वापस ले लिया। और फिर ओसामा बिन लादेन ने सूडान में शरण ली।
  • 1993 में वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर बम गिराया, जिनमें जिसमें 6 लोगों की मौत हो गई और सैकड़ों लोग घायल हो गए। और इससे जुड़े मुस्लिम कट्टरपंथियों को दोषी ठहराया गया। अमेरिकी अधिकारियों के मुताबिक इनके संबंध लादेन से थे।  नवंबर में रियाद में एक इमारत के सामने बम थोड़ा गया। इस इमारत में अमेरिका के पास और भारत के दो नागरिक मारे गए थे और इस हमले में लगभग 60 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे।
  • 1995 नैरोबी  और तंजानिया के दार ए सलाम में अमेरिकी दूतावास के बाहर बम विस्फोट में 224 लोगों की मौत हो गई थी।
  • 1996 में अमेरिकी दबाव के कारण सूडान से ओसामा बिन लादेन को निकाल दिया गया था।  ओसामा बिन लादेन अपने 10 बच्चों और तीन बीवियों को लेकर अफगानिस्तान चले गए यहां पर उन्होंने अमेरिकी बलों के खिलाफ जिहाद की घोषणा की ।
  • 20 अगस्त 1998 को दूतावास पर हम लोग के जवाब में अमेरिका ने अफगानिस्तान और सूडान में लादेन के प्रशिक्षण शिविरों पर हमले किए जिसमें कम से कम 20 लोग मारे गए लेकिन  लादेन वहां पर मौजूद नहीं था. अमेरिका की एक अदालत ने दूतावास पर बमबारी के आरोप में लादेन को दोषी ठहराया और उसके ऊपर $500000 का इनाम रखा।
  • 1999 में एफबीआई ने लादेन को सबसे बड़े आतंकवादियों की सूची में रखा।
  • 2000 में यमन के एक आत्मघाती हमले में 17 लोगों की मौत हो गई
  • 2001 में अलकायदा प्रमुख ने 11 सितंबर को वर्ल्ड ट्रेड सेंटर के ट्विन टावर्स और पेंटागन पर हमला किया जिसमें 3000 से ज्यादा लोगों की मौत हुई। इस हमले के बाद अमेरिकी सरकार ने लादेन का नाम मुख्य संदिग्ध के तौर पर घोषित कर दिया।  अमेरिका सुरक्षा बल अफगानिस्तान तोरा- बोरा की पहाड़ियों में लादेन को मारने में असफल रहे, लेकिन खबरों के मुताबिक ओसामा बिन लादेन पाकिस्तान भाग गए थे।
  • 2002 अमेरिका नीत सैन्य अभियान तेज हुआ गठबंधन बलों ने मैदानी सुरक्षाबलों की संख्या बढ़ाई ,। लादेन पर्दे के पीछे रहा लेकिन कुछ समय बाद अल जजीरा ने लादेन की आवाज़ वाले दो ऑडियो टेप प्रसारित किए । अमेरिकी खुफिया अधिकारियों के मुताबिक यह रिकॉर्डिंग प्रमाणिक थी।
  • 2003 में ओसामा बिन लादेन  ने दुनिया भर के मुसलमानों से अपील ,अपने मतभेद दूर करके जिहाद में भाग लेने के लिए कहा।  पाकिस्तान के तत्कालीन के मुताबिक लादेन संभवत जीवित और अफगानिस्तान में कहीं छिपा हुआ था ,हालांकि उन्होंने दावा किया था कि अलकायदा अब उतना प्रभावशाली आतंकवादी गुट नहीं रहा है।
  •  4 जनवरी 2004 को, अल जजीरा ने दोबारा लादेन की टेप जारी की। मार्च में अमेरिका रक्षा अधिकारियों ने अफगानऔर पाकिस्तान सीमा के पास लादेन के लिए खोज अभियान और भी ज्यादा तेज किए।
  • 2009 में अमेरिकी के रक्षा मंत्री रोबर्ट गेट्स ने कहा कि अधिकारियों के पास कई सालों से लादेन के पत्ते के बारे में कोई विश्वसनीय जानकारी नहीं है

मौत

2 मई 2011 को अमेरिका ने इस्लामाबाद के पास (अब्बोटाबाद) एक विशेष अभियान के दौरान ओसामा बिन लादेन को मार गिराया था.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close