Biography Hindi

प्रकाश चंद्र सेठी की जीवनी – Prakash Chandra Sethi Biography Hindi

प्रकाश चंद्र सेठी एक भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस राजनेता थे, उन्होने1982 से 1984 में गृह मामलों के मंत्री और 1972 से 1975 तक मध्य प्रदेश के 8 वें मुख्यमंत्री के रूप में कार्य किया। वे लगातार दो बार राज्य के मुख्यमंत्री रहे। तो आइए आज इस आर्टिकल में हम आपको प्रकाश चंद्र सेठी के जीवन के बारे में बताएगे।

प्रकाश चंद्र सेठी की जीवनी

प्रकाश चंद्र सेठी की जीवनी

जन्म

प्रकाश चंद्र सेठी का जन्म 10 अक्टूबर 1920 को झालरापाटन, झालावाड़, राजस्थान,भारत में हुआ था ।

करियर

प्रकाश चंद्र सेठी 29 जनवरी 1972 से 22 मार्च 1972 और 23 मार्च 1972 से 22 दिसंबर 1975 तक दो बार राज्य के मुख्यमंत्री रहे। सैद्धांतिक रूप से उन्होंने हमेशा शंकर दयाल शर्मा, रविशंकर शुक्ल, गुरु राधा किशन और गांधीवादी महेश दत्त मिश्रा जैसे लोगों की सराहना की। वे काफी प्रभावशाली व्यक्ति थे लेकिन उन्होंने कभी किसी को इसका फायदा उठाने के लिए प्रोत्साहित नहीं किया। हालाँकि राजनेता के रूप में उनके बारे में ज्यादा बात नहीं की जाती है, लेकिन वे विचारों के निस्वार्थ स्कूल और जनता के कार्यो लिए तत्पर रहते थे। पीसी सेठी, जैसा कि वे लोकप्रिय थे, इंदौर और देश के लोगों द्वारा उनके काम के लिए व्यापक रूप से सम्मानित थे।

  • 1939 में उज्‍जैन के माधव महाविद्यालय के स्‍नेह सम्‍मेलन के एवं माधव क्‍लब के सचिव रहे।
  • 1942 में स्‍वतंत्रता आन्‍दोलन में सक्रिय रूप से भाग लेने के लिये महाविद्यालयीन शिक्षा का बहिष्‍कार किया।
  • 1942 में तथा सन् 1949 से 1952 तक मध्‍यभारत इंटक के उपाध्‍यक्ष पद का कार्यभार संभाला।
  • 1951 से अखिल भारतीय कांग्रेस समिति के सदस्‍य, सन् 1948-49 में इंटक से संबंधित टेक्‍सटाईल वर्कर्स एसोसिएशन के अध्‍यक्ष रहे।
  • मध्‍यभारत कर्मचारी संघ के अध्‍यक्ष के रूप में भी कार्यरत रहे।
  • 1951, 1954 और 1957 में उज्‍जैन जिला कांग्रेस के अध्‍यक्ष रहे।
  • 1953 से 1957 तक मध्‍य भारत, प्रदेश कांग्रेस कार्यकारिणी के सदस्‍य रहे। मध्‍यभारत कला परिषद् के सदस्‍य रहे।
  • 1954 से 1955 में मध्‍य भारत कांग्रेस के कोषाध्‍यक्ष के रूप में काम किया ।
  • 1956 से 1959 तक मध्‍य भारत ग्राम तथा खादी मंडल तथा प्रादेशिक परिवहन समिति के सदस्‍य रहे।
  • 1957 से 1959 तक उज्‍जैन जिला सहकारी बैंक के संचालक।
  • 1953 बिहार में,  1954 पेप्‍सू में तथा  1959 केरल में अखिल भारतीय कांग्रेस समिति की ओर से चुनाव प्रचारक रहे।
  • अखिल भारतीय कांग्रेस समिति के द्वारा 1955-1956 में कर्नाटक, महाराष्‍ट्र, बम्‍बई और गुजरात के लिये क्षेत्रीय प्रतिनिधि नियुक्‍त हुए।
  • दिसम्‍बर 1966 में बिहार में अखिल भारतीय कांग्रेस समिति के पर्यवेक्षक रहे।

केन्द्रीय मंत्री के रूप मे

फरवरी, 1967 में लोक सभा के लिये निर्वाचित। 9 जून, 1962 से मार्च, 1967 तक केन्‍द्रीय उप मंत्री। 13 मार्च, 1967 से राज्‍यमंत्री, 26 अप्रैल, 1968 से 23 फरवरी, 1969 तक इस्‍पात, खान और धातु मंत्रालय के स्‍वतंत्र प्रभारी मंत्री रहे और 14 फरवरी, 1969 को वित्‍त मंत्रालय में राजस्‍व तथा व्‍यय मंत्री रहे।

सितम्‍बर, 1969 में बारबाडोस (वेस्‍टइंडीज) के राष्‍ट्र मंडलीय वित्‍त मंत्री सम्‍मेलन में भारत सरकार का प्रतिनिधित्‍व किया और अक्‍टूबर, 1969 में कोलम्‍बो योजना सम्‍मेलन के प्रतिनिधि मंडल का नेतृत्‍व किया। एशियाई विकास बैंक मनीला और अन्‍तर्राष्‍ट्रीय पुनर्निर्माण एवं विकास बैंक में भारत के गवर्नर मनोनीत हुए। 27 जून, 1970 को वे प्रतिरक्षा उत्‍पादन मंत्री बने। उसके बाद पेट्रोलियम तथा रसायन राज्‍य मंत्री रहे। 29 जनवरी, 1972 के आम चुनाव में विधान सभा के लिये निर्वाचित होकर दोबारा सदन के नेता निर्वाचित हुए।

यात्रा

1958 में अफगानिस्‍तान, सन् 1960 में अमेरिका, कनाड़ा, इंग्‍लैण्‍ड, नार्वे, स्‍वीडन, डेनमार्क, जर्मनी, फ्रांस, स्विट्जरलेंड, मिस्‍त्र देश और 1962 में चेकोस्‍लोवाकिया और ऑस्ट्रिया की यात्राऐं कीं।

मृत्यु

1996 में प्रकाश चंद्र सेठी की मृत्यु हो गई।

Sonu Siwach

नमस्कार दोस्तों, मैं Sonu Siwach, Jivani Hindi की Biography और History Writer हूँ. Education की बात करूँ तो मैं एक Graduate हूँ. मुझे History content में बहुत दिलचस्पी है और सभी पुराने content जो Biography और History से जुड़े हो मैं आपके साथ शेयर करती रहूंगी.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close