https://www.googletagmanager.com/gtag/js?id=UA-86233354-15
Biography Hindi

राम प्रसाद बिस्मिल की जीवनी – Ram Prasad Bismil Biography Hindi

राम प्रसाद बिस्मिल एक कवि, शायर, अनुवादक, इतिहासकार व साहित्यकार भी थे. वे एक महान क्रांतिकारी थे जिसके चलते 30 वर्ष की आयु में उन्हे अपने प्राणो की आहुति देनी पड़ी। आज हम इस आर्टिकल में आप को राम प्रसाद बिस्मिल की जीवनी – Ram Prasad Bismil Biography Hindi के बारे में बताने जा रहे है.

राम प्रसाद बिस्मिल की जीवनी – Ram Prasad Bismil Biography Hindi

राम प्रसाद बिस्मिल की जीवनी - Ram Prasad Bismil Biography Hindi

जन्म

राम प्रसाद बिस्मिल का जन्म 11 जून ,1897 में शाहजहाँपुर में हुआ। इनके पिता का नाम मुरलीधर और माता का नाम मूलमती था। ये पाँच भाई बहन थे. इनके नाम इस प्रकार है रमेश सिंह, शास्त्री देवी, ब्रह्म देवी, भगवतीदेवी

शिक्षा

बचपन में इनकी शिक्षा में कोई रुचि नहीं थी. उनका मन खेलने में ज्यादा और पढ़ाई में के कम लगता था. 8वी तक की पढ़ाई करने के बाद वे स्वामी सोमदेव की सेवा में लग गए।

आजादी में योगदान

19 वर्ष की आयु में बिस्मिल ने क्रांतिकारी बने। अपने 11 वर्ष के क्रांतिकारी जीवन में कई किताबें भी लिखी और उन्हे प्रकाशित भी किया। भारतीय स्वत्नत्रता संग्राम आदोलन में हिस्सा लिया। कोकरी-काण्ड में भी राम प्रसाद बिस्मिल ने बढ़ चढ़ कर योगदान दिया। 1918 में मैनपुरी षडयंत्र में उनका योगदान था। 1923 में क्रांतिकारी दल का गठन किया, जिसका नाम बाद में हिदुस्तान रिपब्लिकन एसोसिएशन रखा गया।

निधन

राम प्रसाद बिस्मिल को 19 दिसंबर 1927 को ब्रिटिश सरकार ने गोरखपुर जेल में फाँसी की सजा दी थी.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close