रामलाल की जीवनी

Spread the love

रामलाल हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री और आंध्र प्रदेश के राज्यपाल के रूप नियुक्त हुए थे । वे दो बार हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री के पद पर रहे। हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री बनने पर उनका पहला कार्यकाल 28 जनवरी 1977 से 30 अप्रैल 1977 तक रहा। इसके बाद फिर से 14 फ़रवरी 1980 को राज्य के मुख्यमंत्री बने और 7 अप्रैल 1983 तक पद पर बने रहे। तो आइए आज इस आर्टिकल में हम आपको रामलाल की जीवनी के बारे में बताएगे।

रामलाल की जीवनी

रामलाल की जीवनी

जन्म

रामलाल का जन्म 7 जुलाई 1929 को गांव बरथाटा, तहसील जुब्बल, जिला शिमला में हुआ था। उनका पूरा नाम ठाकुर रामलाल था।

शिक्षा

रामलाल जी ने 1951 में एसडी कालेज, शिमला से स्नातक की पढ़ाई पूरी की।इसके बाद 1955 में लॉ कालेज जालंधर से उन्होंने एलएलबी पास की।

करियर

  • 1957 से 1962 तक वे क्षेत्रीय परिषद के लिए चुने गए।
  • वे 1957, 1962, 1967, 1977, 1980 और 1982 में जुब्बल-कोटखाई निर्वाचन क्षेत्र से हिमाचल प्रदेश विधान सभा के लिए चुने गए थे।
  • रामलाल जी हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री बनने पर 28 जनवरी 1977 से 30 अप्रैल 1977 तक इस पद पर बने रहे।
  •   वे 29 जून 1977 से 13 फ़रवरी 1980 तक हिमाचल प्रदेश विधान सभा में विपक्ष के नेता थे।
  • इसके बाद वे पुन: 14 फ़रवरी 1980 को राज्य के मुख्यमंत्री बने और 7 अप्रैल 1983 तक पद पर बने रहे।
  • वे आंध्र प्रदेश के राज्यपाल के रूप नियुक्त हुए और 15 अगस्त 1983 से 29 अगस्त 1984 तक पद पर बने रहे।

मृत्यु

6 जुलाई 2002 को शिमला में  रामलाल जी की मृत्यु हो गई।