https://www.googletagmanager.com/gtag/js?id=UA-86233354-15
Biography Hindi

शरजील इमाम की जीवनी – Sharjeel Imam Biography Hindi

Sharjeel Imam शाहीन बाग में हो रहे धरना प्रदर्शन का मुख्य आयोजक थे। हाल ही में सोशल मीडिया में भड़काऊ बयान के कारण काफी चर्चा में है। तो आइए आज इस आर्टिकल में हम आपको शरजील इमाम की जीवनी – Sharjeel Imam Biography Hindi के बारे में बताएगे।

शरजील इमाम की जीवनी – Sharjeel Imam Biography Hindi

शरजील इमाम की जीवनी - Sharjeel Imam Biography Hindi

जन्म

शरजील इमाम का जन्म बिहार के जहानाबाद में हुआ था।

शिक्षा और करियर

शरजील इमाम ने IIT बॉम्बे से कंप्यूटर इंजीनियरिंग की पढ़ाई की है। कहा जाता है कि शरजील ने कुछ दिनों तक वहां पढ़ाया भी। 2013 में जेएनयू में आधुनिक इतिहास में मास्टर्स करने के लिए एडमिशन लिया। यंही से उसने Mphil और फिर PHD भी किया। ग्रेजुएशन के बाद उन्होने दो साल तक उसने बेंगलुरु में एक सॉफ्टवेयर कंपनी में डेवेलपर के तौर पर काम किया।

शरजील आइसा में दो साल से अधिक रहा और एक साल के लिए इसकी कार्यकारिणी का सदस्य भी रहा। इसके अलावा उसने आइसा के प्रत्याशी के तौर पर काउंसलर के पद के लिए 2015 का जेएनयूएसयू चुनाव लड़ा।

मामला

कहा जा रहा है कि शरजील शाहीन बाग में हो रहे धरना प्रदर्शन का मुख्य आयोजक था। वो सोशल मीडिया पर लोगों को लगातार इस धरने में शामिल होने की अपील करता था। एक फेसबुक पोस्ट में शरजील ने लिखा है, ‘शाहीन बाग का मॉडल चक्का जाम का है, बाक़ी सब सेकेंडरी हैं, चक्का जाम और धरने में फ़र्क समझिए, हर शहर में धरने कीजिए, उसमे लोगों को चक्का जाम के बारे में बताइए, और फिर तैयारी करके हाईवेज पर बैठ जाइए। ‘

2 जनवरी को एक फेसबुक पोस्ट में शरजील ने लिखा था कि वो हॉन्ग-कॉन्ग की तर्ज पर भीड़ को इकट्ठा करना चाहता है। कहा जा रहा है कि इसको लेकर उसने तैयारियां भी शुरू कर दी थी।

पिछले साल राम मंदिर पर फैसला आने के बाद शरजील इमाम ने सोशल मीडिया पर Justice Denied नाम से एक कैंपन भी चलाया। इस दौरान वो कई जगह भीड़ को ये बता रहा था कि बाबरी मस्जिद मामले में उनके समुदाय के साथ न्याय नहीं हुआ। आरोप है कि पिछले कुछ समय से शरजील नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ प्रदर्शन कर रहा था। दावा है कि शरजील CAA के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान जेएनयू, जामिया और अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में भी दिखा।

केस

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) परिसर में 16 जनवरी को दिए भाषण के लिए इमाम के खिलाफ शनिवार यानि 25 जनवरी को राजद्रोह का मामला दर्ज किया गया। असम पुलिस ने भी उसके भाषण को लेकर उसके खिलाफ उग्रवाद रोधी कानून यूएपीए के तहत एक प्राथमिकी भी दर्ज की है।

Sharjeel Imam को बिहार से गिरफ्तार कर लिया गया है.

Sonu Siwach

नमस्कार दोस्तों, मैं Sonu Siwach, Jivani Hindi की Biography और History Writer हूँ. Education की बात करूँ तो मैं एक Graduate हूँ. मुझे History content में बहुत दिलचस्पी है और सभी पुराने content जो Biography और History से जुड़े हो मैं आपके साथ शेयर करती रहूंगी.

Related Articles

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close