https://www.googletagmanager.com/gtag/js?id=UA-86233354-15
Biography Hindi

थॉमस अल्वा एडिसन की जीवनी – Thomas Alva Edison Biography Hindi

थॉमस अल्वा एडिसन (English -Thomas Alva Edison) महान अमेरीकी आविष्कारक एवं वीध्वांत व्यक्ति थे।

एडिसन ने अक्टूबर 1868 को 21 साल की उम्र में पहला पेटेंट इलेक्ट्रिक वोट रिकॉर्डरका हासिल किया।

1869 में न्यूयॉर्क आ गए और स्टॉक टिकर का आविष्कार किया। अपने जीवन में 1093 अमेरिकी पेटेंट कराए।

टाइम पत्रिका ने उन्हे 1997 में एक हजार सालों में दुनिया के सबसे महत्त्वपूर्ण व्यक्तियों में पहला स्थान दिया।

थॉमस अल्वा एडिसन की जीवनी – Thomas Alva Edison Biography Hindi

Thomas Alva Edison Biography Hindi
Thomas Alva Edison Biography Hindi

संक्षिप्त विवरण

नामथॉमस अल्वा एडिसन
पूरा नामथॉमस अल्वा एडिसन
जन्म 11 फरवरी 1847
जन्म स्थानमिलन, ऑहियो, संयुक्त राज्य अमेरिका
पिता का नामसेमुएल ओगडेन एडिसन
माता का नामनैन्सी मैथ्यु इलियट
राष्ट्रीयता   अमेरिकी
धर्म देववादी
जाति

जन्म

Thomas Alva Edison का जन्म 11 फरवरी 1847 को अमेरिका के ओहियो राज्य के मिलन शहर में हुआ था।

उनके पिता का नाम सेमुएल ओगडेन एडिसन तथा उनकी माता का नाम नैन्सी मैथ्यु इलियट था।

उन्होंने 24 साल की उम्र में 16 साल की मैरी स्टिलवेल नाम की महिला से विवाह कर लिया था। एडसिन ने मैरी से अपनी मुलाकात के महज 2 महीने के बाद ही उनसे शादी करने का फैसला ले लिया था और फिर 1871 में क्रिसमस के मौके पर वे दोनों एक-दूसरे से शादी के बंधन में बंध गए थे।

उन्हें अपनी इस शादी से तीन बच्चे विलियम, थॉमस जूनियर और मैरियन भी पैदा हुए थे। शादी के करीब 13 साल बाद मैरी स्टिलवेल की बीमारी की वजह से मौत हो गई।

इसके करीब 1 साल बाद उन्होने 1885 में मीना मिलर नाम की महिला के साथ विवाह कर लिया था। अपनी दूसरी शादी से भी एडिसन को मेडेलीन, थिओडोर और चार्ल्स नाम के तीन बच्चे हुए थे।

शिक्षा

थॉमस अल्वा एडिसन बचपन से ही बेहद तेज बुद्धि के, कुशाग्र एवं बुद्धिमान छात्र थे। वे शुरु से ही जिज्ञासु प्रवृत्ति के थे, जिन्हें शुरु से ही नवीन चीजों को जानने की उत्सुकता रहती थी।

लेकिन शुरूआत में उनके अध्यापक ने उन्हें स्कूल में दाखिला लेने के 3 महीने बाद भी मंदबुद्धि कहकर स्कूल से बाहर निकाल दिया थ।

इसके बाद उन्होने अपनी मां के मार्गदर्शन में घर पर रहकर ही पढ़ाई की।

एडिसन जब महज 10 साल के थे, तब उन्होंने गिबन, सीआर जैसे महान ग्रंथों के साथ डिक्शनरी ऑफ साइंस की पढ़ाई कर ली थी।

महान वैज्ञानकि थॉमस अल्वा एडिसन के बारे में ऐसा भी कहा जाता है कि स्काटलेट नामक बीमारी से पीड़ित होने की वजह से शुरुआत से ही उनमें सुनने का सामर्थ्य कम था और आखिरी समय में वे अपनी सुनने की शक्ति खो बैठे थे।

लेकिन एडिसन ने अपने सफलता के सामने कभी अपने बहरापन को आड़े नहीं आने दिया और अपने लक्ष्य को पाने के लिए वे ईमानदारी और कड़ी मेहनत के साथ प्रयास करते रहे और उन्होंने अपनी जिंदगी महान उपलब्धियों को हासिल कर पूरी दुनिया के सामने अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया।

करियर

थॉमस अल्वा एडिसन ने करीब 13-14 साल की छोटी सी उम्र में ही नौकरी ज्वॉइन कर ली थी। दरअसल, संघर्ष के दिनों के दौरान वे ट्रेन के किनारे न्यूज पेपर और टॉफियां बेचते थे।

उसी दौरान उन्होंने एक स्पीड से आ रही मालगाड़ी से ट्रेन की पटरियों पर टहल रहे एक 3 साल के बच्चे जिम्मी मैकेंजी की जान बचाई थी।

वहीं यह बच्चा स्टेशन मास्टर जेयू मैकेंजी का था। वहीं यह देखकर स्टेशन मास्टर बेहद खुश हुए उन्हें टेलीग्राम के बारे में बताया और इसके साथ ही उन्होंने थॉमस अल्वा एडिसन को टेलीग्राफ मशीन ऑपरेट करना भी सिखाया था।

जिसके बाद थॉमस एडिसन ने ओन्टेरियो के स्ट्रेटफोर्ड स्टेशन पर टेलीग्राफी की पहली अपनी नौकरी की थी। बाद में उन्होंने टेलीग्राम उपकरणों में सुधार लाने के लिए भी कई प्रयोग किए थे।

1866 में दुनिया को अपने अविष्कारों से जगमग करने वाले थॉमस अल्वा एडिसन लुइसविले, केंटुकी चले गए थे। जहां पर उन्होंने एसोसिएटेड प्रेस के ब्यूरो में भी काम किया।

एडिसन ने वहां पर रात में अपनी ड्यूटी करवा ली थी, जिससे कि उन्हें अपने प्रयोगों के लिए ज्यादा समय मिल सके। वहीं एक दिन ऑफिस में वे बैटरी पर कुछ तेजाब से प्रयोग कर रहे थे, तभी तेजाब नीचे फर्श पर फैल गया।

जिसके बाद थॉमस अल्वा एडिसन को नौकरी से बाहर निकाल दिया गया था।

आविष्कार

एडिसन ने अक्टूबर 1868 को 21 साल की उम्र में पहला पेटेंट इलेक्ट्रिक वोट रिकॉर्डर का हासिल किया।

1869 में एडिसन ने अपने सर्वप्रथम आविष्कार “विद्युत मतदानगणक” को पेटेंट कराया। नौकरी छोड़कर प्रयोगशाला में आविष्कार करने का निश्चय कर निर्धन एडिसन ने अदम्य आत्मविश्वास का परिचय दिया।

Thomas Alva Edison
Thomas Alva Edison

1870-76  के बीच एडिसन ने अनेक आविष्कार किए। एक ही तार पर चार, छह, संदेश अलग अलग भेजने की विधि खोजी, स्टॉक एक्सचेंज के लिए तार छापने की स्वचालित मशीन को सुधारा, तथा बेल टेलीफोन यंत्र का विकास किया।

उन्होंने 1875 में “सायंटिफ़िक अमेरिकन” में “ईथरीय बल” पर खोजपूर्ण लेख प्रकाशित किया;

1878 में फोनोग्राफ मशीन पेटेंट कराई जिसकी 2010  में अनेक सुधारों के बाद वर्तमान रूप मिला। 21 अक्टूबर 1879 को एडिसन ने 40 घंटे से अधिक समय तक बिजली से जलनेवाला निर्वात बल्ब विश्व को भेंट किया।

1883 में “एडिसन प्रभाव” की खोज की, जो कालांतर में वर्तमान रेडियो वाल्व का जन्मदाता सिद्ध हुआ। अगले दस वर्षो में एडिसन ने प्रकाश, उष्मा और शक्ति के लिए विद्युत के उत्पादन और त्रितारी वितरण प्रणाली के साधनों और विधियों पर प्रयोग किए; भूमि के नीचे केबुल के लिए विद्युत के तार को रबड़ और कपड़े में लपेटने की पद्धति ढूँढी; डायनेमो और मोटर में सुधार किए। यात्रियों और माल ढोने के लिए विद्युत रेलगाड़ी तथा चलते जहाज से संदेश भेजने और प्राप्त करने की विधि का आविष्कार किया।

एडिसन ने क्षार संचायक बैटरी भी तैयार की। लौह अयस्क को चुंबकीय विधि से गहन करने का प्रयोग किए, 1891 में चलचित्र कैमरा पेटेंट कराया एवं इन चित्रों को प्रदर्शित करने के लिए किनैटोस्कोप का आविष्कार किया।

प्रथम विश्वयुद्ध में एडिसन ने जलसेना सलाहकार बोर्ड का अध्यक्ष बनकर 40 युद्धोपयोगी आविष्कार किए। पनामा पैसिफ़िक प्रदर्शनी ने 21 अक्टूबर 1915 को एडिसन दिवस का आयोजन करके विश्वकल्याण के लिए सबसे अधिक अविष्कारों के इस उपजाता को संमानित किया।

Thomas Alva Edison 1927 में नैशनल ऐकैडमी ऑव साइंसेज़ के सदस्य निर्वाचित हुए। 21 अक्टूबर 1929 को राष्ट्रपति दूसरे ने अपने विशिष्ट अतिथि के रूप में एडिसन का अभिवादन किया।

अविष्कारों की सूची

  • इलैक्ट्रिक बल्ब
  • ग्रामोफोन
  • इलेक्ट्रॉनिक वोट रिकॉर्डर
  • फोनोग्राम
  • बैट्रीज़
  • कीनेटोस्कोप
  • इलेक्ट्रिक ट्रेन

विचार

  • हम किसी चीज के 1 परसेंट के 10 लाखवें हिस्से के बारे में भी नहीं जानते हैं।
  • मैं अपनी सबसे बड़ी ख़ुशी और अपना इनाम उस काम में पा लेता हूँ जो उससे पहले आता है जिसे दुनिया सफलता कहती है।
  • एक शानदार आईडिया चाहते हो तो ढेर सारे आइडियाज सोचो।
  • जितनी काबिलियत है उससे कहीं अधिक अवसर हैं।
  • लगभग हर व्यक्ति जो किसी आईडिया को विकसित करता है, उसपर तब तक काम करता है जब तक वो असंभव न लगने लगे, और तब वो निराश हो जाता है। ये वो जगह नहीं जहाँ निराश हुआ जाए।
  • जब मैं पूरी तरह से तय कर लेता हूँ कि कोई परिणाम प्राप्त करने योग्य है तो मैं आगे बढ़ता हूँ और परीक्षण पर परीक्षण करते चला जाता हूँ जब तक कि वो आ ना जाये।
  • मुझे इस तथ्य पर गर्व है कि मैंने कभी भी हत्या करने के लिए हथियारों का आविष्कार नहीं किया।
  • साहसी बनो. मैंने व्यापार में मंदी के कई दौर देखे हैं। हमेशा अमेरिका इनसे और अधिक शक्तिशाली और समृद्ध होकर निकला है। अपने पूर्वजों की तरह बहादुर बनो। विश्वास रखो! आगे बढ़ो!

मृत्यु

Thomas Alva Edison की मृत्यु 18 अक्टूबर 1931 में  हुआ था।

Sonu Siwach

नमस्कार दोस्तों, मैं Sonu Siwach, Jivani Hindi की Biography और History Writer हूँ. Education की बात करूँ तो मैं एक Graduate हूँ. मुझे History content में बहुत दिलचस्पी है और सभी पुराने content जो Biography और History से जुड़े हो मैं आपके साथ शेयर करती रहूंगी.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close