Uncategorized

अमिताभ बच्चन की जीवनी – Amitabh Bachchan Biography Hindi

अमिताभ बच्चन बॉलीवुड के सबसे लोकप्रिय अभिनेता है। 1970 के दशक के दौरान उन्होंने बड़ी लोकप्रियता हासिल की और तब से भारतीय सिनेमा के इतिहास में सबसे प्रमुख व्यक्ति बन गए। बच्चन ने अपने करियर में कई पुरस्कार जीते जिनमें 3 राष्ट्रीय पुरस्कार और 12 फिल्म फेयर पुरस्कार है। उनका नाम सर्वाधिक सर्वश्रेष्ठ अभिनेता फिल्मफेयर अवार्ड का रिकॉर्ड है।

अभिनय के अलावा बच्चन ने पार्श्वगायक, फिल्म निर्माता और टीवी प्रस्तोता और भारतीय संसद के निर्वाचित सदस्य के रूप में अपनी अहम भूमिका अदा की है। अमिताभ बच्चन ने पोलियो उन्मूलन अभियान के बाद अब तंबाकू निषेध परियोजना पर काम कर रहे हैं। बच्चन को अप्रैल 2005 में एचआईवी/ एड्स और पोलियो उन्मूलन अभियान के लिए यूनिसेफ की सद्भावना राजदूत नियुक्त किया गया था। तो आइए आज इस आर्टिकल में हम आपको अमिताभ बच्चन की जीवनी – Amitabh Bachchan Biography Hindi के बारे में बताएंगे।

अमिताभ बच्चन की जीवनी – Amitabh Bachchan Biography Hindi

अमिताभ बच्चन की जीवनी

जन्म

अमिताभ बच्चन का जन्म 11 अक्टूबर 1942 में इलाहाबाद उत्तर प्रदेश, भारत में हुआ था। उनके पिता का नाम डॉ हरिवंश राय बच्चन जो की हिंदी के प्रसिद्ध कवि थे। और इनकी माता का नाम तेजी बच्चन था। जो कराची से संबंध रखती थी। बचपन में बचपन का नाम इंकलाब रखा गया। लेकिन बाद में इनका नाम अमिताभ रख दिया गया। जिसका अर्थ है ” ऐसा प्रकाश जो कभी नहीं बुझेगा”। अमिताभ बच्चन का एक और नाम श्रीवास्तव भी था। अमिताभ बच्चन के छोटे भाई का नाम अभिजात है. अमिताभ बच्चन की मां की थिएटर में गहरी रुचि थी और उन्हें फिल्म में रोल की पेशकश की गई थी, किंतु उन्होंने गृहणी बनना ही पसंद किया. अमिताभ के करियर के चुनाव में उनकी मां का भी कुछ हिस्सा था, क्योंकि वह हमेशा इस बात पर जोर देती थी कि उन्हें सेंटर स्टेज पर अपना करियर बनाना है अमिताभ बच्चन के पिता की मृत्यु 2003 में हुई थी. जबकि इनकी माता की मृत्यु 21 दिसंबर 2007 में हुई थी.

शिक्षा

अमिताभ बच्चन ने दो बार MA की उपाधि ग्रहण की है. मास्टर ऑफ आर्ट्स इन्होंने इलाहाबाद के ज्ञान प्रबोधिनी और बॉयज हाई स्कूल( बीएचएस) और इसके बाद नैनीताल के शेरवुड कॉलेज में पढ़ाई की जहां कला संकाय में प्रवेश दिलाया गया.  अमिताभ बाद में शिक्षा ग्रहण करने के लिए दिल्ली विश्वविद्यालय के किरोड़ीमल कॉलेज चले गए यहां से उन्होंने विज्ञान स्नातक की उपाधि ग्रहण की.

अपनी आयु के 20 वर्ष के बाद में बच्चन ने अभिनय में अपना करियर आजमाने के लिए कोलकाता की एक शिपिंग फर्म बर्ड एंड कंपनी में किराया ब्रोकर की नौकरी छोड़ दी. 10 जून 1973 को उन्होंने बंगाली संस्कार के अनुसार अभिनेत्री जया भादुडी से विवाह कर लिया. जिनसे उन्हें दो बच्चे बेटी श्वेता और बेटा अभिषेक बच्चन है.

करियर

अमिताभ की बच्चन शुरुआत फिल्मों में  वॉयस नैरेटर के तौर पर फिल्म ‘भुवन शोम’ से हुई थी। लेकिन एक अभिनेता के तौर पर उनके करियर की शुरुआत फिल्म ‘सात हिंदुस्तानी’ से हुई थी, लेकिन इसके बाद उन्होंने कई फिल्में की लेकिन वे ज्यादा सफल नहीं हो पाई फिल्म ‘जंजीर’ उनके करियर का टर्निंग प्वाइंट साबित हुई। इसके बाद उन्होंने लगातार हिट फिल्मों की झड़ी लगाई इसके साथ ही वे हर दर्शक वर्ग में लोकप्रिय हो गए और फिल्म इंडस्ट्री में अपने अभिनय का लोहा मनवाया।

अमिताभ बच्चन को 26 जुलाई 1982 को ‘कुली’ फिल्म की शूटिंग के दौरान गंभीर चोटे आई. जिसके चलते उनकी स्थिति इतनी गंभीर हो गई थी कि ऐसा लगने लगा था कि वह मौत के काफी करीब है लेकिन लोगों की दुआओं की वजह से वे ठीक हो गए।

राजनीति

कुली फिल्म की शूटिंग के दौरान लगी चोट के बाद उन्हें लगने लगा कि वह फिल्म फिल्में नहीं कर पाएंगे और उन्होंने अपना पर राजनीति की और बढ़ा दिया उन्होंने 8 में लोकसभा चुनाव में अपने गिरे थे तो इलाहाबाद के सीट से उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एचएन बहुगुणा को काफी ज्यादा वोटों से हराया

राजनीति में काफी ज्यादा समय तक नहीं टिक पाए जिसके कारण उन्होंने फिल्मों को ही अपने लिए उचित समझा ।

जब उनकी कंपनी एबीसीएल आर्थिक संकट से जूझ रही थी तब उनके मित्र और राजनीतिज्ञ अमर सिंह ने उनकी काफी मदद की थी।  बाद में अमिताभ बच्चन ने भी अमर सिंह को समाजवादी पार्टी को काफी सहयोग किया उनकी पत्नी जया बच्चन ने समाजवादी पार्टी को ज्वाइन कर लिया और वे राज्य सभा के सदस्य बन गई। अमिताभ ने पार्टी के लिए कई विज्ञापन और राजनीतिक अभियान भी किए।

फिल्म करियर में वापसी

  • फिल्मों में एक बार फिर उन्होंने वापसी की और फिल्म शहंशाह हिट हुई।  इसके बाद में उन्होंने उनके अग्निपथ में निभाए गए अभिनय को भी काफी सराहा गया और इसके लिए उन्हें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार भी मिला लेकिन इस दौरान खास कमाल नहीं दिखा पाये
  • 2000 में आई मोहब्बतें डूबते करियर को बचाने में काफी मददगार साबित हुई और फिल्म को और उनके अभिनय को काफी सराहा गया इसके बाद उन्होंने कई फिल्मों में काम किया जिसे आलोचकों के साथ-साथ दर्शकों ने भी काफी पसंद किया
  • 2005 में आई फिल्म ब्लैकमेल फिल्म के लिए  एक बार फिर राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
  • फिल्म में उन्होंने अपने बेटे अभिषेक बच्चन के बेटे का किरदार निभाया।  फिल्म को काफी पसंद किया गया और इसके लिए भी उन्हें एक बार फिर राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाजा गया।
  • वे काफी लंबे समय तक गुजरात पर्यटन के ब्रांड  अंबेसडर भी है।
  • उन्होंने टीवी की दुनिया में भी बुलंदियों के द्वारा किया गया कौन बनेगा करोड़पति काफी पॉपुलर हुआ।  इसने टीआरपी के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए और इस प्रोग्राम के जरिए काफी लोग करोड़ करोड़पति बने।

योगदान

  • अमिताभ बच्चन लोगों की मदद करने के लिए हमेशा  तत्पर रहते हैं। वे सामाजिक कार्य में भी अपना पूरा योगदान देते हैं।  कर्ज में डूबे आंध्र प्रदेश के 40 किसानों को अमिताभ ने ₹1100000 की मदद की।  ऐसे ही विदर्भ के किसानों को भी उन्होंने ₹30,00,000 की मदद की।
  • जून 2000 में वे पहले ऐसे एशिया के व्यक्ति थे जिनके लंदन के मैडम तुसाद संग्रहालय में व्यक्त की मूर्ति स्थापित की गई थी

अमिताभ के ऊपर लिखी गई किताबें

  • अमिताभ बच्चन: द लीजेंड 1999 मे:
  • टू बीऑर नॉट टू बी 2004 में
  • एबी: द लिजेड (ए फोटोग्राफर ट्रिब्यूट) 2006 में
  • अमिताभ बच्चन: एक जीवित किंवदंती 2006 में
  • द मेकिंग ऑफ ए सुपरस्टार 2006 में
  • लुकिंग फॉर द बिग बी: बॉलीवुड
  • बच्चन एंड मी 2007 में बच्चनालिया 2009

अमिताभ बच्चन शुद्ध शाकाहारी है और 2012 में ‘पेटा’ इंडिया द्वारा उन्हें  हॉटेस्ट वेजीटेरियन करार दिया गया। पेटा एशिया द्वारा कराए गए एक कॉन्टेस्ट पोल में एशिया के सेक्सियस्ट वेजिटेरियन का टाइटल भी उन्होंने जीता।

विवाद

  • बाराबंकी भूमि प्रकरण
  • राज ठाकरे की आलोचना

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close