षणमुग सुब्रमणियन की जीवनी – Shanmug Subramanian Biography Hindi

December 04, 2019
Spread the love

षणमुग सुब्रमणियन चेन्नई की एक आइटी कंपनी में बतौर सॉफ्टवेयर इंजीनियर काम कर रहे है। उन्होने चंद्रयान – 2 अभियान के लिए भेजे गए लैंडर विक्रम की लोकेशन खोजी है। तो आइए आज इस आर्टिकल में हम आपको षणमुग सुब्रमणियन की जीवनी – Shanmug Subramanian Biography Hindi के बारे में बताएगे।

षणमुग सुब्रमणियन की जीवनी – Shanmug Subramanian Biography Hindi

षणमुग सुब्रमणियन की जीवनी - Shanmug Subramanian Biography Hindi

जन्म

षणमुग सुब्रमणियन मूलत: तमिलनाडु के मदुरै के रहने वाले है। उन्हे घर पर सभी शान कहकर पुकारते है। उनकी बहाँ चेन्नई में ही सॉफ्टवेयर इंजीनियर के रूप में कार्यरत है।

शिक्षा

षणमुग सुब्रमणियन ने मैकेनिकल इंजीनियरिंग में स्नातक किया है।

Read This -> के. सिवन की जीवनी – K. Sivan Biography Hindi

करियर

षणमुग सुब्रमणियन चेन्नई की एक आइटी कंपनी में बतौर सॉफ्टवेयर इंजीनियर काम कर रहे है। उन्होने चंद्रयान – 2 अभियान के लिए भेजे गए लैंडर विक्रम की लोकेशन खोजी  और नासा को इसकी जानकारी दी है। षणमुग के दावे के बाद नासा के वैज्ञानिकों ने उस लोकेशन की पुष्टि के लिए अन्य तसवीरों का सहारा लिया। नासा के एलआरओ ने 14 व 15 अक्तूबर और 11 नवंबर को फिर चंद के उस हिस्से की तस्वीरें भेजी थी। इन तसवीरों में वैज्ञानिकों ने उस लोकेशन को जांचा, जहां षणमुग ने मलबा होने का दावा किया था। नई तसवीरों के घन अध्ययन के बाद षणमुग की खोज को सम्मान देते हुए लोकेशन की पुष्टि के बाद जारी तस्वीर में एक मलबे के एक स्थान को अंग्रेजी के S अक्षर से दर्शाया गया था।

कैसे खोजी लोकेशन

षणमुग का कहना है कि विक्रम लोकेशन खोजने के काम  को उन्होने चुनौती कि तरह लिया। नासा के वैज्ञानिक जिस काम को नहीं कर पाए  थे, उसे करने का उत्साह रोमांचित कर रहा था। लोकेशन खोजने के लिए वह काम से लौटकर रोजाना चार – पाँच घंटे अपने डॉ लैपटॉप पर नासा की और से जारी डॉ तस्वीरों पर अध्ययन करते थे। इनमें एक तस्वीर पुरानी थी और एक तस्वीर 17 सितंबर को खींची गई थी। कड़ी मशक्कत के बाद उन्होने अंतत: उस लोकेशन को खोज निकाला जहां विक्रम का मलबा था।

Read This -> विक्रम साराभाई की जीवनी – Vikram Sarabhai Biography Hindi

Leave a comment