https://www.googletagmanager.com/gtag/js?id=UA-86233354-15
Biography Hindi

वी.बी. चंद्रशेखर की जीवनी – V. B. Chandrasekhar Biography Hindi

वी.बी. चंद्रशेखर एक भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी थे। वे दाएँ हाथ के खिलाड़ी थे। उन्होंने 1988 से 1990 के दौरान सात एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय (वनडे) में देश का प्रतिनिधित्व किया था। जब उन्होंने प्रथम श्रेणी क्रिकेट से संन्यास लिया तब उन्होंने 81 मैचों में 4,999 रन बनाए । “आक्रामक” खिलाड़ी के रूप में कहा जाता है कि उन्होंने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में एक भारतीय द्वारा सबसे तेज शतक का रिकॉर्ड बनाया। जुलाई 2012 में वी.बी. चंद्रशेखर को तमिलनाडु के कोच के रूप में नियुक्त किया गया था। लेकिन एक साल में, उन्हें पद से हटा दिया गया। उन्होने चेन्नई में एक क्रिकेट अकादमी भी चलाई। तो आइए आज इस आर्टिकल में हम आप को वी.बी. चंद्रशेखर की जीवनी – V. B. Chandrasekhar Biography Hindi के बारे में बताएगे।

वी.बी. चंद्रशेखर की जीवनी – V. B. Chandrasekhar Biography Hindi

वी.बी. चंद्रशेखर की जीवनी - V. B. Chandrasekhar Biography Hindi

जन्म

वी. बी. चंद्रशेखर का जन्म 21 अगस्त 1961 मद्रास (चेन्नई), मद्रास राज्य (तमिलनाडू), भारत में हुआ था। उनका पूरा नाम वक्कादई बीकेश्वरेश्वर चंद्रशेखर (Vakkadai Biksheswaran Chandrasekhar) था। उनकी पत्नी का नाम सौम्या है। इसके अलावा उनकी दो बेटियाँ भी है।

हाइट और वजन

  • वी. बी. चंद्रशेखर की हाइट 5 फीट 7 इंच थी।
  • उनका वजन लगभग 70 kg था।
  • उनकी आँखों का रंग काला है।

करियर

चंद्रशेखर ने 1986 से 1987 सीज़न के दौरान तमिलनाडु के लिए प्रथम श्रेणी में शुरुआत की।

उनके पास दो समान रूप से सफल घरेलू सीज़न थे- 1987-88 और 1994-95-क्रमशः 551 और 572 रन। वह तमिलनाडु के रणजी ट्रॉफी में पूर्व सीज़न में प्रमुख खिलाड़ियों में से एक थे।

चंद्रशेखर ने 1988 से 1990 के बीच सात वनडे मैच खेले थे जिनमें उन्होंने 88 रन बनाए थे लेकिन घरेलू स्तर पर उन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया तथा 81 मैचों में 4999 रन बनाए जिसमें नाबाद 237 रन उनका उच्चतम स्कोर रहा। जब ग्रेग चैपल भारतीय टीम के कोच थे तब वह राष्ट्रीय कोच भी रहे। बाद के वर्षों में उन्होंने घरेलू क्रिकेट में कॉमेंट्री भी की। वी.बी. चंद्रशेखर की जीवनी – V. B. Chandrasekhar Biography Hindi

वीबी राष्ट्रीय स्तर पर तब पहचान में आए जब उन्होंने 1988 में ईरानी ट्रोफी में 56 गेंदों पर 100 रन बना दिए। एमए चिदंबरम स्टेडियम में खेले गए इस मुकाबले में उन्होंने 119 रन बनाए थे। उनकी इस पारी ने तमिलनाडु को शेष भारत के खिलाफ जीत हासिल करने में मदद की। “आक्रामक” खिलाड़ी के रूप में कहा जाता है कि उन्होंने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में एक भारतीय द्वारा सबसे तेज शतक का रिकॉर्ड बनाया। यह लंबे समय तक भारत के घरेलू क्रिकेट में सबसे तेज शतक का रिकॉर्ड रहा जिसे आखिर में 2016 में ऋषभ पंत ने 2016 में 48 गेंदों पर शतक बनाकर तोड़ा।

जुलाई 2012 में, चंद्रशेखर को तमिलनाडु के कोच के रूप में नियुक्त किया गया था। एक साल में, उन्हें पद से हटा दिया गया।

Read This -> श्रीसंत की जीवनी – Sreesanth Biography Hindi

Batting and Bowling Career

Batting Career Summary

MInnNORunsHSAvgBFSR100200504s6s
ODI770885312.5716254.32001110

Bowling Career Summary

MInnBRunsWktsBBIBBMEconAvgSR5W10W
ODI7

मृत्यु

15 अगस्त 2019 को वी. बी.चंद्रशेखर ने अपने चेन्नई स्थित आवास पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी।

 

Sonu Siwach

नमस्कार दोस्तों, मैं Sonu Siwach, Jivani Hindi की Biography और History Writer हूँ. Education की बात करूँ तो मैं एक Graduate हूँ. मुझे History content में बहुत दिलचस्पी है और सभी पुराने content जो Biography और History से जुड़े हो मैं आपके साथ शेयर करती रहूंगी.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close