मयंक प्रताप सिंह की जीवनी – Mayank Pratap Singh Biography Hindi

November 22, 2019
Spread the love

मयंक प्रताप सिंह 21 साल की उम्र में जज बनने वाले राजस्थान ही नहीं बल्कि वे देश के पहले ऐसे शख्स है। उन्होने जज  बनने के लिए राजस्थान न्यायिक सेवा भर्ती परीक्षा  – 2018 में पहला स्थान हासिल किया। तो आइए आज इस आर्टिकल में हम आपको मयंक प्रताप सिंह की जीवनी – Mayank Pratap Singh Biography Hindi के बारे में बताएगे।

मयंक प्रताप सिंह की जीवनी – Mayank Pratap Singh Biography Hindi

मयंक प्रताप सिंह की जीवनी - Mayank Pratap Singh Biography Hindi

जन्म

मयंक का जन्म 1999 में राजस्थान में हुआ था। मंयक के पिता  का नाम राजकुमार सिंह और उनकी माता का नाम डॉ. मंजू  है। उनकी माँ उदयपुर में सीनियर अध्यापक के पद पर कार्यरत हैं।

शिक्षा

मयंक ने  2019 में राजस्थान यूनिवर्सिटी (Rajasthan University) से लॉ की परीक्षा पास की है

करियर

मयंक प्रताप सिंह ने जज बनने के लिए हुई राजस्थान न्यायिक सेवा भर्ती परीक्षा-2018 में भी पहला स्थान हासिल किया है। राजस्थान न्यायिक सेवा भर्ती परीक्षा का आयोजन हाई कोर्ट करता है। 2018 की भर्ती परीक्षा से पहले तक इसमें शामिल होने की न्यूनतम आयु सीमा 23 साल थी। 2018 की परीक्षा में इसे घटाकर 21 वर्ष कर दिया गया था। मयंक ने अपने पहले ही प्रयास में आयु सीमा घटाए जाने का फायदा उठा लिया। प्रारंभ से ही मेधावी मयंक बताते हैं कि 12वीं कक्षा के बाद उन्होंने 2014 में ही राजस्थान विश्वविद्यालय के पांच वर्षीय विधि पाठयक्रम की प्रवेश परीक्षा दी और पहले ही प्रयास में चयन हो गया।

Read This -> गुंजन सक्सेना की जीवनी – Gunjan Saxena Biography Hindi

Leave a comment