Biography Hindi

शीला दीक्षित की जीवनी – CM Sheila Dikshit Biography Hindi

दिल्ली की 3 बार मुख्यमंत्री और भारत के केरल राज्य की पूर्व राज्यपाल रह चुकी है. शीला दीक्षित महिलाओं पर हो रहे हत्याचारों के खिलाफ हमेशा से लडती आई है इसी वजह से उन्हें अपने साथियों के साथ 23 दिनों तक जेल की यात्रा भी कर चुकी है. उनकी हस्तकला व ग्रामीण कलाकारों व कारीगरों के उत्थान में काफी रूचि थी. आज इस आर्टिकल में हम आपको शीला दीक्षित की जीवनी – CM Sheila Dikshit Biography Hindi के बारे में बताने जा रहे है.

Read This -> हिमा दास की जीवनी – Hima Das Biography Hindi

शीला दीक्षित की जीवनी – CM Sheila Dikshit Biography Hindi

शीला दीक्षित की जीवनी - CM Sheila Dikshit Biography Hindi

जन्म

श्रीमती शीला दीक्षित का जन्म 31 मार्च 1938 को Kapurthala, Punjab के पंजाबी खतरी परिवार में हुआ था. उनका विवाह प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी तथा पूर्व राज्यपाल व केन्द्रीय मंत्रिमंडल में मंत्री पद पर रहे उमाशंकर दीक्षित के परिवार में हुआ. शीला दीक्षित के पति का नाम विनोद दीक्षित था जिनसे उन्हें दो बच्चे संदीप दीक्षित और लतिका दीक्षित हुई.

शिक्षा

उन्होंने अपनी शिक्षा दिल्ली के कान्वेंट ऑफ जीसस एंड मैरी स्कूल से ली और स्नातक और कला स्नातकोत्तर की शिक्षा मिरांडा हाउस कालेज से कम्पलीट की थी.

Read This-> विद्याचरण शुक्ल की जीवनी – Vidya Charan Shukla Biography Hindi

योगदान

जैसा की हमने आपको पहले भी बताया की वो महिलाओं के उत्थन के लिए हमेशा प्रयासरत रहती थी. उसी बीच उन्हें अपने लगभग 82 साथियों के साथ 23 दिन की जेल यात्रा भी करनी पड़ी लेकिन उन्होंने कभी भी पीछे मुड़ने की नहीं सोची. उनकी जेल यात्रा की वजह से लाखों लोग उनके साथ जुड़ गए और उन्होंने इसमें अपना योगदान दिया.

1970 में शीला दीक्षित यंग विमन्स असोसियेशन की अध्यक्षा रही. अध्यक्षा पद पर रहे हुए उन्होंने दो बड़े महिला छात्रावास का निर्माण करवाया. वे इंदिरा गाँधी स्मारक ट्रस्ट की सचिव भी रह चुकी थी. 1978-1984 में वे कपड़ा निर्यातकर्ता संघ (गार्मेंट्स एक्स्पोर्टर्स एसोसियेशन) के कार्यपालक सचिव पद पर आसीन थी जिससे उन्होंने कपड़ा निर्यात को एक उच्चे स्तर पर पहुंचा दिया.

शीला दीक्षित 1998 से 2013 तक दिल्ली के मुख्यमंत्री पद पर भी रह चुकी है और 11 मार्च 2014 – 25 अगस्त 2014 तक उन्होंने केरल के राज्यपाल का पदभार भी सम्भाला.

Read This-> दिव्यंका त्रिपाठी की जीवनी – Divyanka Tripathi Biography Hindi

निधन

वो लम्बे समय से बीमार चल रही थी जिसके चलते उन्हें 20 जुलाई 2019 को लगभग 10:30 am पर दाखिल करवाया गया. शीला दीक्षित का निधन 20 जुलाई 2019 को 03 बजकर 30 मिनट दोपहर को city hospital में हुआ.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close